15 जनवरी को क्यों मनाया जाता है सेना दिवस? बेहद रोचक है भारतीय सेना का इतिहास

चैतन्य भारत न्यूज

हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस (Army Day 2021) के रूप में मनाया जाता है। इस साल भारत का 73वां सेना दिवस मनाया जाएगा। यह दिन सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व अन्य कार्यक्रमों के साथ नई दिल्ली व सभी सेना मुख्यालयों में मनाया जाता है। इस दिन पूरा देश थल सेना की वीरता, अदम्य साहस, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है।

776 में हुआ था भारतीय सेना का गठन

बता दें आज भारत का 72वां सेना दिवस है। आज ही के दिन साल 1949 में भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल के एम करियप्पा भारतीय सेना के कमांडर इन चीफ बने थे। साल 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में भारतीय सेना का गठन किया था। भारतीय थल सेना की शुरुआत ईस्ट इंडिया कंपनी की सैन्य टुकड़ी के रुप में हुई थी। फिर बाद में यह ब्रिटिश भारतीय सेना बनी और अंत में इसे भारतीय थल सेना का नाम दिया गया।

हर साल 15 जनवरी को जवानों के दस्ते और अलग-अलग रेजिमेंट की परेड होती है और झांकियां निकाली जाती हैं। सेना दिवस को हर साल बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है। हालांकि, इस बार कोरोना महामारी के चलते भव्य उत्सव आयोजित नहीं हो सकेगा।

कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना

कभी तपती धूप में जल के देख लेना

कैसे होती है हिफाजत मुल्क की

कभी सरहद पर चलकर देख लेना

सेना दिवस की ढेर सारी बधाई

Related posts