इंडिगो के मालिकों के बीच विवाद, कहा- ‘पान की दुकान’ भी अपने मामलों को बेहतर ढंग से संभालती है

चैतन्य भारत न्यूज

देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो के संस्थापकों में जारी विवाद अब और बढ़ गया है। कंपनी के प्रमोटर्स राकेश गंगवाल और राहुल भाटिया के बीच हुए मतभेद अब खुलकर सामने आ गए हैं। राकेश ने एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) से कंपनी की कॉरपोरेट गवर्नेंस के बारे में शिकायत की है, जिसके बाद से ही दोनों के बीच विवाद और बढ़ गया।

indigo,indigo promoter rakesh gangwal and rahul bhatia

राकेश का आरोप है कि, ‘पान की दुकान भी अपने ऐसे मामलों को इससे बेहतर तरीके से संभालती है।’ बता दें राकेश इंडिगो में 37 फीसदी हिस्सेदारी रखते हैं। उन्होंने 38 फीसदी स्टेक रखने वाले राहुल भाटिया के खिलाफ यह शिकायत की। राकेश का कहना है कि, कंपनी ने मूल सिद्धांतों और संचालन मूल्यों से पीछे हटना शुरू कर दिया है। इन्हीं सिद्धांतों के चलते कंपनी ने इतना बड़ा मुकाम हासिल किया है।

rahul bhatia,rakesh gangwal,indigo airlines

बाजार नियामक सेबी को लिखे पत्र में राकेश ने कंपनी में संचालन के स्तर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने भाटिया तथा उनकी कंपनियों पर संदिग्ध लेनदेन में लिप्त होने का आरोप भी लगाया है। उन्होंने इस पत्र की प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन, नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल समेत अन्य लोगों को भेजी है।

rahul bhatia,rakesh gangwal,indigo airlines

बता दें इंडिगो देश की सबसे बड़ी एयरलाइन है। इंडिगो के पास 200 से अधिक विमान हैं और प्रतिदिन लगभग 1,400 उड़ानें संचालित होती हैं। खबरों के मुताबिक, इंडिगो के प्रमोटर्स के बीच मई 2019 से खींचतान चल रही है। इससे पहले भी वो मामले को सुलझाने के लिए लॉ फर्म का सहारा ले चुके हैं।

Related posts