इंदौर की तर्ज पर होगा रामनगरी अयोध्या का विकास, समझौते पर हुए हस्ताक्षर, इंदौरी विशेषज्ञ देंगे ट्रेनिंग

ayodhya ramlala,fiber temple

चैतन्य भारत न्यूज

देश के सबसे स्वच्छ शहर मध्यप्रदेश के इंदौर मॉडल की तर्ज पर अब रामनगरी अयोध्या को विकसित किया जाएगा। इंदौर मॉडल की तरह ही रामनगरी को भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधा वाले पर्यटन केंद्र के रूप में बनाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक, अयोध्या नगर निगम और आईआईएम इंदौर के बीच एक समझौता (एमओयू) भी हुआ है।

इस समझौते के मुताबिक, तीन साल के लिए आईआईएम इंदौर अयोध्या नगर निगम के साथ मिलकर काम करेगा। आईआईएम अब अयोध्या में आध्यात्मिक और धार्मिक पर्यटन स्थली के रूप में स्वच्छता मानकों को बनाए रखने के लिए अपनी सेवाएं देगा। समझौते पर आईआईएम के निदेशक हिमांशु रॉय और अयोध्या के नगर आयुक्त विशाल सिंह ने हस्ताक्षर किए।

इस समझौते में सिर्फ और सिर्फ अयोध्या को स्वच्छ बनाने पर खास ध्यान केंद्रित रहेगा। चूंकि स्वच्छता की रैंकिंग में इंदौर पिछले चार सालों से लगातार पहले नंबर पर बना हुआ है, इसलिए तय किया गया है कि इंदौर की तर्ज पर ही अयोध्या में कैपेसिटी बिल्डिंग और ट्रेनिंग का काम होगा। अयोध्या नगरी में सुगम यातायात के लिए सभी सड़कों को भी चौड़ा किया जाएगा। नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन के मुताबिक, सबसे पहले अयोध्या में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत सूचना, शिक्षा और संचार से संबंधित कार्य होगा।

ट्रेनिंग भी देंगे आईआईएम के विशेषज्ञ

समझौते के तहत शहर को साफ रखने के लिए आईआईएम के विशेषज्ञ नगर निगम कर्मचारियों को ट्रेनिंग देंगे। वे कचरा प्रबंधन के तौर तरीके बताएंगे कि किस व्यवस्था के तहत बेहतर और अपेक्षित परिणाम पाए जा सकते हैं। यातायात भी बेहतर करने के लिए अयोध्या नगर निगम क्षेत्र में भी बदलाव किए जाएंगे।

Related posts