इंदौर में लापरवाही की हद: कोरोना मरीज के शव के कान, नाक, उंगलियां सब चूहों को कुतर डाले, डॉक्टर बोले- माफ कर दो

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना वायरस महामारी ने दुनियाभर में तहलका मचा रखा है। देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 55 लाख के पार पहुंच गई है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से अस्पतालों में भी जगह नहीं बची है। इसी बीच इंदौर के एक अस्पताल से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। इस अस्पताल में कोरोना वायरस की वजह से एक 87 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई और उनके शव को अस्पताल में चूहों ने कुतर दिया। परिजनों ने शव की हालत देखकर जमकर हंगामा मचाया और इसके बाद अस्पताल प्रबंधन पर कई संगीन आरोप लगाए।

नाक-कान सब खा गए चूहे

मामला इंदौर के यूनिक अस्पताल का है जहां विनय नगर जैन कॉलोनी में रहने वाले बुजुर्ग को चार दिन पहले इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार सुबह तक वे बिलकुल ठीक थे और फिर अचानक अस्पताल से खबर मिली कि उनकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि अगर उनकी रात में ही मृत्यु हो गई थी तो उस समय ही अस्पताल बता देता ताकि उनके शव को चूहों द्वारा कुतरा तो नहीं जाता। जब परिजन शव लेने गए तो उनसे शव की हालत देखी नहीं गई। शव के कान, आखें, नाक, उंगलियां सब चूहे खा गए थे। अस्पताल प्रशासन ने लाश को सही तरीके से नहीं रखा था। शव की हालत देखकर हर कोई दंग रह गया।

अस्पताल ने मांगी माफी

साथ ही परिजनों ने यह आरोप लगाया है कि अस्पताल ने करीब एक लाख रुपए लेने के बाद ही शव परिवार को सौंपा। इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने इस पूरे मामले को लेकर मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही स्वास्थ्य विभाग हॉस्पिटल में पेस्ट कंट्रोल को लेकर सतर्क हो गया है। वहीं अस्पताल के मालिक डॉक्टर प्रमोद नीमा ने बुजुर्ग के परिजनों से इस मामले में माफी मांगी और सारे पैसे लौटाने की बात भी कही।

Related posts