इंदौर: कोरोना से अब तक 16 लोगों की मौत, लेकिन कब्रिस्तान पहुंचे 120 जनाजे, आंकड़ें देख प्रशासन भी चौंका

corona virus muslim

चैतन्य भारत न्यूज

इंदौर. मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में कोरोना वायरस के मामलों में हर दिन बढ़ोतरी हो रही है। यहां अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 16 मरीजों ने दम तोड़ दिया है। इनमें से 14 लोग मुस्लिम समुदाय के थे। लेकिन चौंकाने वाली बात यह सामने आई है कि पिछले करीब 8 दिनों से इंदौर के कब्रिस्तानों में रोजाना करीब 20 जनाजे पहुंच रहे हैं।

जी हां… अब तक 120 से ज्यादा जजाने पहुंच गए हैं। इन आंकड़ों को देखकर प्रशासन भी हैरान है। इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने इस बारे में कहा कि, मामले को संज्ञान में लिया गया है और जल्द ही इसकी जांच करवाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि, अब तक की जानकारी के मुताबिक, सभी मृतकों में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए हैं लेकिन यदि ये आंकड़े सही नहीं पाए गए तो इन्हें जारी करने वालों के खिलाफ प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर ने बताया कि, ‘सही आंकड़ों के बारे में पता लगाने के लिए मृतकों की संख्या का तुलनात्मक अध्ययन किया जाएगा। इसके लिए पिछले 5 साल के आंकड़ों को देखा जाएगा और यह पता लगाया जाएगा कि इस महीने में आमतौर पर डेथ-रेट क्या रहता है। इसके बाद ही सही तस्वीर सामने आ सकती है।’

दैनिक भास्कर में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, ये सभी कब्रिस्तान उन इलाकों के पास ही स्थित हैं जहां कोरोना वायरस की आशंका को लेकर लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है। अचानक बढ़ी मृतकों की संख्या सामने आने के बाद नगर निगम ने महू नाका, चंदननगर, नूरानी नगर, लुनियापुरा और सिरपुर कब्रिस्तान में रखे गए रजिस्टर मंगाए हैं। निगम द्वारा इन आंकड़ों को गलत बताया गया है। निगम के कब्रिस्तान प्रभारी डॉ। नटवर सारडा का कहना है कि, उनके पास 21 दिन में आंकड़े आते हैं। उन्होंने कहा कि किसी खबर से मैं इत्तेफाक नहीं रखता हूं। इसकी जांच की जाएगी और उसके बाद सही तस्वीर पेश की जाएगी।

ये भी पढ़े…

इंदौर: डॉक्टरों पर पत्थरबाजी करने पर मुस्लिम समुदाय शर्मिंदा, विज्ञापन छपवाकर मांगी माफी

इंदौर: जिस इलाकें में लोगों ने डॉक्टरों पर की थी पत्थरबाजी, वहां से 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

3, 5, 8 साल के बच्चे भी कोरोना संक्रमित, इंदौर में लगातार बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव मरीजों के आंकड़े

Related posts