इंदौर: पुलिस पर पथराव करने वाले 4 आरोपितों में से एक कोरोना पॉजिटिव, जबलपुर जेल में मचा हड़कंप

चैतन्य भारत न्यूज

इंदौर. मध्यप्रदेश के इंदौर में पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाले आरोपितों में से एक कोरोना पॉजिटिव निकला है। बता दें कुछ दिनों पहले शहर के चंदन नगर इलाके में पुलिस पर पत्थरबाजी के आरोप में चार आरोपितों को रासुका में जबलपुर जेल भेजा गया था। उन्ही में से एक कैदी जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इस खबर के सामने आने के बाद जेल में हड़कंप मच गया है।

पुलिस से की थी बदतमीजी

जिनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई हुई है, उनके नाम जावेद खान (25), इमरान खान (24), नासिर खां (58), सलीम खान (50) हैं। ये आरोपी लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे थे। पुलिस के मना करने पर इन्होंने बदतमीजी की और पत्थरबाजी शुरू की थी। इन्हीं चार आरोपियों में से एक आरोपी कोरोना पॉजिटिव निकला है।

गिरफ्तारी के बाद नहीं हुई स्क्रीनिंग

जानकारी के मुताबिक, आरोपी जावेद खान कोरोना पॉजिटिव निकला है। हैरानी वाली बात यह है कि गिरफ्तारी के बाद न तो आरोपी की किसी भी तरह की स्क्रीनिंग हुई और न ही उसकी ट्रैवल हिस्ट्री चेक की गई। इतना ही नहीं बल्कि आरोपियों को जब जबलपुर जेल भेजा गया तब भी किसी भी प्रकार की जांच नहीं हुई। आरोपी जावेद खान को जेल के अंदर ही अस्पताल के वार्ड में क्वारैंटाइन किया गया है।

जबलपुर लाते समय खराब थी तबीयत

बताया जाता है कि इंदौर में पुलिस टीम पर हमला करने वाले आरोपियों को जब जबलपुर लाया गया था, तभी से एक आरोपी की तबीयत खराब थी, लेकिन सभी को अस्पताल में एडमिट कराया गया था। फिर चारों आरोपितों के सैंपल लिए गए जिन्हें जबलपुर स्थित आईसीएमआर लैब में भेजा गया था। इनमें एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अब बाकी तीन की निगेटिव आई, जिन्हें जेल में शिफ्ट किया गया।

पुलिसकर्मियों को भी किया आइसोलेट

जो पुलिसकर्मी चारों आरोपितों को लेकर जबलपुर गए थे, उन्हें भी आइसोलेट किया गया है। साथ ही केंद्रीय जेल में जिस बैरक में कैदी को रखा गया था उसको सैनेटाइज किया जा रहा है और संपर्क में आने वाले अन्य कैदियों की जांच भी की जा रही है।

ये भी पढ़े…

इंदौर: जिस इलाकें में लोगों ने डॉक्टरों पर की थी पत्थरबाजी, वहां से 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

इंदौर: देश में कोरोनावायरस से पहले डॉक्टर की मौत, नहीं कर रहे थे कोरोना मरीजों का इलाज, फिर भी हुए संक्रमित

इंदौर: कोरोना से अब तक 16 लोगों की मौत, लेकिन कब्रिस्तान पहुंचे 120 जनाजे, आंकड़ें देख प्रशासन भी चौंका

 इंदौर: डॉक्टरों पर पत्थरबाजी करने पर मुस्लिम समुदाय शर्मिंदा, विज्ञापन छपवाकर मांगी माफी

Related posts