देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में हुई पहली कचरा मुक्त शादी, जानिए इस अनोखी शादी के बारे में

wedding card, ranchi,jharkhand

चैतन्य भारत न्यूज

देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर अब स्वच्छता में पंच लगाने की तैयारी कर रहा है। इंदौर के लोगों की स्वच्छता ही आदत बन गई है। अब स्वच्छता यहां के लोगों के संस्कारों में भी शामिल हो गई है। इंदौर में हाल ही में एक ऐसा ही अनोखा विवाह हुआ है जो कचरा मुक्त शादी (जीरो वेस्ट थीम) पर हुआ है।

इस विवाह में कागज के बजाए ई-कार्ड बांटे गए। इतना ही नहीं बल्कि इस पूरे विवाह समारोह में ऐसी किसी वस्तु का उपयोग नहीं हुआ जिससे कचरा उत्पन्न हो और जिसे मौके पर नष्ट न किया जा सके। दो दिन तक चले शादी समारोह में केवल 40 किलो गीला कचरा निकला, जिसका निपटान विवाह समारोह स्थल पर ही कर खाद में तब्दील कर दिया गया।

ये अनोखी शादी पिछले दिनों माचल गांव के एक गार्डन में हुई। दरअसल, आईआईटी इंदौर के मैकेनिकल इंजीनियर रोहित अग्रवाल और इंटीरियर डिजाइनर पूजा गुप्ता ने यह फैसला किया था कि, वे जीरो वेस्ट थीम पर ब्याह रचाएंगे। एक बार रोहित समाजसेवी पद्मश्री जनक पलटा के घर गए थे और वहां उन्हें शादी में ‘कचरा कर, न करें शादी का कचरा’ विषय पर अपनी बात रखने को कहा गया था। तभी से उन्होंने यह फैसला किया है कि, वे जब भी शादी करेंगे और कचरा नहीं फैलाएंगे।

फिर जब इस साल उनकी शादी पक्की हुई रिश्ता पक्का हुआ तो उन्होंने होने वाली पत्नी पूजा के सामने जीरो वेस्ट थीम पर शादी की पेशकश रखी और वे भी तैयार हो गई। रोहित और पूजा की शादी में न तो डिस्पोजल सामग्री का इस्तेमाल हुआ, न साज-सज्जा में ऐसी सामग्री लगाई जो कचरा करे। मेहमानों को भी ई-कार्ड भेजे गए। सभी को भोजन के लिए स्टील और चीनी की प्लेट दी गई थी। सभी से यही आग्रह किया गया था कि झूठा ना छोड़े। खाना बनाने के दौरान सब्जियों के निकले कचरे को मौके पर ही निस्तारित कर दिया गया। पूरी शादी में 40 किलो निष्पादन योग्य कचरा निकला लेकिन वो भी कचरा परिवहन वाहन तक नहीं पहुंचा।

 

 

Related posts