दुष्कर्म आरोपी भगोड़े नित्यानंद के खिलाफ जारी हुआ ब्लू कॉर्नर नोटिस, इस देश में छिपे होने की खबर

nityananda

चैतन्य भारत न्यूज

बेंगलुरु. दुष्कर्म और अपहरण का फरार आरोपी स्वयंभू बाबा नित्यानंद की मुश्किलें अब और ज्यादा बढ़ गई हैं। गुजरात पुलिस की अपील पर इंटरपोल ने नित्यानंद के खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है।


रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की प्रकिया शुरू

बता दें पिछले साल से ही फरार चल रहा है। गुजरात पुलिस ने राज्य में नित्यानंद के आश्रम से दो लड़कियों के लापता होने के बाद नवंबर 2019 में एफआईआर के सिलसिले में एक स्थानीय अदालत में चार्जशीट दाखिल की है, जिसमें इंटरपोल नोटिस के बारे में बताया गया। पुलिस उपाधीक्षक के.टी. कामरिया के मुताबिक, ‘इंटरपोल ने इस महीने विवादास्पद स्वयंभू बाबा के खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया है।’ इसके अलावा नित्यानंद के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की प्रकिया भी शुरू कर दी गई है।

बसाया अपना नया देश ‘कैलासा’!

सूत्रों के मुताबिक, नित्यानंद कैरेबियाई देश बेलीज में छिपा हो सकता है। कहा जा रहा है कि उसे यहां का पासपोर्ट भी मिल गया है। बता दें देश से भाग जाने के बाद नित्यानंद के इक्वाडोर में होने की बात सामने आई थी। बताया जा रहा था कि नित्यानंद ने इक्वाडोर के पास एक द्वीप पर अपना नया देश बसा लिया है जिसका नाम ‘कैलासा’ रखा है। नित्यानंद द्वारा इस देश को संप्रभु हिंदू राष्ट्र घोषित किया गया है। लेकिन दो दिन बाद ही इक्वाडोर की सरकार ने इससे इनकार कर दिया। अब उसके इस कैरेबियाई देश में होने की बात कही जा रही है।

तमिलनाडु का निवासी है नित्यानंद

बता दें बुधवार को गुजरात पुलिस ने नित्यानंद के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। यह चार्जशीट अहमदाबाद आश्रम से 2 लड़कियों के गायब होने के मामले में दाखिल की है। चार्जशीट में कहा है कि, ‘पिछले साल कर्नाटक में रेप का केस दर्ज होने क बाद के बाद नित्यानंद देश छोड़कर फरार हो गया था।’ नित्यानंद पर अहमदाबाद में अपना आश्रम चलाने के लिए बच्चों को कथित तौर पर अगवा कर उन्हें बंधक बनाकर अनुयायियों से चंदा जुटाने के काम में लगाने का भी आरोप है। साल 2018 में उसके खिलाफ जिला कोर्ट रामनगर ने गैरजमानती वारंट जारी किया था। हालांकि, उस गैरजमानती वारंट को इस साल जनवरी में हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। 41 वर्षीय नित्यानंद का असली नाम राजशेखरन है और वो तमिलनाडु का मूल निवासी है।

क्या है ब्लू कॉर्नर और रेड कॉर्नर नोटिस

इंटरपोल अपने सदस्य देशों के दोषियों के खिलाफ अलग-अलग नोटिस जारी करता है जैसे-रेड कॉर्नर, ब्लू , ब्लैक, पर्पल, ऑरेंज और यलो कॉर्नर नोटिस। ब्लू कॉर्नर नोटिस ऐसे व्यक्ति का पता लगाने के लिए जारी किया जाता है, जो अपराधी है और लापता है। वहीं, रेड कॉर्नर नोटिस किसी अपराधी को गिरफ्तार करने के लिए जारी किया जाता है।

ये भी पढ़े…

फरार नित्यानंद बोला- ‘मुझे कोई छू भी नहीं सकता, मैं परम शिव हूं’, वायरल हुआ वीडियो

भगोड़े बाबा नित्यानंद ने त्रिनिदाद और टोबैगो के पास द्वीप पर बसाया अपना अलग देश! नाम रखा कैलासा

बच्चों को बंधक बनाने वाला आरोपित बाबा नित्यानंद देश से भागा, दो सेविकाएं हिरासत में

सामने आई एक और बाबा की अश्लील हरकतें, वायरल वीडियो में कई महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करता दिखा

एक और बाबा की शर्मनाक हरकतें : अश्लील वीडियो वायरल होते ही बाबा ज्योति गिरी फरार

Related posts