फुटबॉल मैच देखने के लिए लड़का बनी युवती, हुई जेल तो खुद को जला डाला, दुनियाभर में हो रहा प्रदर्शन

sahar khodiyari

चैतन्य भारत न्यूज

तेहरान. इस्लामिक देश ईरान में महिलाओं पर कई पाबंदियां हैं। इन्हीं में से एक पाबंदी महिलाओं के स्टेडियम में जाकर फुटबॉल मैच देखने पर है। ईरान की एक युवती सहर खोडयारी को इस कानून के बारे में पता था बावजूद इसके वह फुटबॉल मैच देखना चाहती थीं। ऐसे में सहर अपना वेश बदलकर पसंदीदा टीम को चीयर करने स्टेडियम की ओर रवाना हो गईं, लेकिन पुलिस ने उन्हें पहचान लिया और हिरासत में ले लिया। जेल जाने के डर से सहर ने खुद को आग ली। जब तक आग बुझाई गई, तब तक सहर का शरीर 90 प्रतिशत तक जल चुका था। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।



बता दें यदि ईरान में कोई महिला स्टेडियम में प्रवेश करती है तो उसे छह महीने की जेल की सजा मिलती है। यह जानते हुए भी सहर अपनी पसंदीदा टीम एस्टेगलल फुटबॉल क्लब को देखने के लिए स्टेडियम पहुंचीं। उन्होंने वेश बदलने के लिए पुरुषों की ड्रेस पहनी, अपनी पसंदीदा टीम के जैसे ही ब्लू विग लगाई और लंबा ओवरकोट पहना। फिर वह तेहरान आजाद स्टेडियम की ओर जाने लगीं, लेकिन स्टेडियम के बार ही सुरक्षाबलों ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक, सहर को छह महीने की जेल की सजा सुनाई गई। सजा के विरोध में एक हफ्ते पहले ही कोर्ट के बाहर सहर ने खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह कर लिया। घटना के दो हफ्ते बाद उन्होंने तेहरान के अस्पताल में दम तोड़ दिया।

सहर की मौत के बाद से ही ईरान में उनका नाम ट्वीटर पर खूब ट्रेंड हुआ। सहर के परिजनों ने बताया कि, ‘वो मानसिक तौर पर बीमार थीं और उन्होंने पिछले एक साल से दवाइयां लेनी भी बंद कर दी थी।’ ईरान की न्यायपालिका को सहर की मौत की जांच करने के लिए कहा गया है। सहर के मरने की खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। सहर को लोग प्यार से ‘द ब्लू गर्ल’ कहने लगे थे। लोग न्याय व्यवस्था से लेकर पुलिस की कार्रवाई तक की निंदा भी कर रहे हैं। साथ ही सोशल मीडिया यूजर्स ऐसी व्यवस्था को एक युवा की मौत के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

सहर की मौत को लेकर सोशल मीडिया पर जोरदार कैंपेन भी चलने लगा है। साथ ही ईरान सरकार पर स्टेडियम में महिलाओं के आने पर लगी पाबंदी को हटाने का दबाव बढ़ने लगा है। इस कैंपेन में ईरान की भी कई महिलाएं शामिल हुईं हैं। सूत्रों के मुताबिक, ईरान ने अब यह वादा किया है कि, ‘वो कंबोडिया के साथ होने वाले फुटबॉल मैच में कम से कम 3,500 महिला प्रशंसकों को स्टेडियम में मैच देखने की अनुमति देगा।’

ये भी पढ़े…

ईरान : हिजाब का विरोध करने पर युवती को 24 साल की सजा, कोर्ट ने कहा- इससे भ्रष्टाचार और वेश्यावृति फैल रही है

यहां ट्रैफिक जाम से बचने के लिए अमीर लोगों ने एंबुलेंस को ही बना दिया टैक्सी

Related posts