जम्मू-कश्मीर : आतंकियों के साथ पकड़ा गया यह डीएसपी, मिल चुका है राष्ट्रपति पुरस्कार

jammu kashmir

चैतन्य भारत न्यूज

श्रीनगर. दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले के वानपोह इलाके से शनिवार को सेना ने हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर समेत दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही इन आतंकियों के साथ पुलिस के एक डीएसपी को भी पकड़ा गया है।


डीएसपी को मिल चुका है राष्ट्रपति मेडल

डीएसपी पद पर तैनात इस ऑफिसर का नाम देविंदर सिंह है। इसे जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आंतकियों के साथ गिरफ्तार कर लिया है और फिलहाल इससे पूछताछ की जा रही है। खास बात यह है कि इस ऑफिसर को पिछले साल 15 अगस्त पर राष्ट्रपति से मेडल भी मिल चुका था।

गाड़ी से बरामद हुए हथियार और लाखों रुपए

जानकारी के मुताबिक, डीएसपी श्रीनगर एयरपोर्ट पर एंटी हाइजैकिंग स्कावायड में तैनात है। इन तीनों को पुलिस ने एक कार से गिरफ्तार किया गया। तलाशी के दौरान कार से दो एके 47 राइफल और तीन पिस्टल बरामद किए गए हैं। साथ ही गाड़ी से 1.47 लाख रुपए भी मिले हैं।

कैसे पकड़ा गया डीएसपी?

जम्मू-कश्मीर की पुलिस ने जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है उनमें हिजबुल का शोपियां जिला कमांडर सईद नवीद मुश्ताक तथा आसिफ डार शामिल हैं। पुलिस की इस टीम का नेतृत्व डीआईजी अतुल गोयल कर रहे थे। इन तीनों को उस समय पकड़ा गया जब ये एक साथ एक कार में सवार होकर कहीं जा रहे थे। पुलिस का कहना है कि, गाड़ी डीएसपी ही चला रहे थे। डीएसपी के घर से छापेमारी के दौरान दो AK-47 राइफल्स और ग्रिनेड मिले हैं।

कौन हैं डीएसपी सिंह?

डीएसपी सिंह इन दिनों श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात थे। पहले वह जम्मू-कश्मीर पुलिस में एंटी हाईजैकिंग के सदस्य थे। साथ ही वह पुलिस ऑफिसर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) में इंस्पेक्टर भी रह चुके हैं। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप में रहते हुए उन्हें कई बार प्रमोशन मिले थे। सफल एंटी-टेरर ऑपरेशन के बाद उन्हें डीएसपी बनाया गया था।

Related posts