बेरहम आतंकियों ने 10 महीने के बच्चे को भी नहीं बख्शा, जमीन पर पटककर मां-बेटे दोनों को लातों से मारा

चैतन्य भारत न्यूज

रविवार रात को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादियों ने एक स्पेशल पुलिस ऑफिसर (SPO) फयाज अहमद भट और उनकी पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। आतंकियों के हमले में उनकी 21 वर्षीय बेटी रफिया भी घायल हो गई थी जिसका अस्पताल में उपचार चल रहा था लेकिन सोमवार को उसने भी दम तोड़ दिया। हाल ही में यह जानकारी सामने आई है कि आतंकियों ने फयाज के 10 महीने के पोते पर भी रहम नहीं दिखाया और उसे जमीन पर पटक दिया।

जानकारी के मुताबिक, आतंकियों ने अवंतिपोरा स्थित हरिपरिगाम गांव में अधिकारी के घर पर हमला किया था। आतंकियों ने एके-47 लहराते हुए पुलिस अफसर के घर का दरवाजा खटखटाया था। जैसे ही फयाज ने दरवाजा खोला, आतंकियों ने फायरिंग कर दी। इस दौरान अपने माता-पिता को बचाने बेटी रफिया दौड़ी तो उसको भी आतंकियों ने गोलियों से छलनी कर दिया। इस दौरान भट की बहू सायमा भी घर पर ही थीं जो अपने बच्चे को खिला रही थीं। आतंकियों ने बच्चे तो जमीन पर पटक दिया और दोनों को लातें मारीं।

सायमा ने बताया, ‘मैंने उनसे जान की भीख मांगी लेकिन उन्होंने मेरे बच्चे को भी नहीं छोड़ा। ससुरालवालों की तरह कहीं मुझे भी गोली न मार दें इस डर से मेरी चीखने की हिम्मत नहीं हुई। मैं अपने बच्चे को उठाकर दूसरे कमरे में भागी। जब आतंकी चले गए तब जाकर मेरी चीख निकली और मैं जोर-जोर से रोने लगी।’

सायमा के पति लियाकत फयाज प्रादेशिक सेना में हैं और पुलवामा में ही तैनात हैं। हमले के वक्त वह ड्यूटी पर थे। पत्नी की कॉल पर जब घर पहुंचे तो देखा कि आतंकी हमले में माता-पिता की मौत हो चुकी थी; जबकि छोटी बहन की सांसें चल रही थीं, लेकिन उसने भी सोमवार तड़के अस्पताल में दम तोड़ दिया।

Related posts