दूषित जल ही नहीं बल्कि इन कारणों से भी हो सकता है पीलिया, जानिए इसके लक्षण

jaundice symptoms,jaundice,jaundice reason

चैतन्य भारत न्यूज

आमतौर पर कहा जाता है कि पीलिया एक जल संक्रामक रोग है। यानी की ये बीमारी दूषित पानी के कारण होती है। लेकिन यह धारणा पूरी तरह से सत्य नहीं है। पीलिया होने के और भी कई कारण हो सकते हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, पीलिया दूषित पानी के अलावा हेपेटाइटिस-बी और सी-वायरस, मलेरिया, लेप्टोस्पायरोसिस के कारण हो सकता है। इसके साथ ही पित्त की पथरी या कैंसर के कारण पित्त नाली में अवरोध होने की वजह से भी पीलिया हो सकता है।

पीलिया होने के अन्य कारण

यदि किसी कारणवश आपके लीवर पर प्रेशर पड़ता है या फिर उसमें इन्फेक्शन हो जाता है तो ये भी पीलिया होने का कारण बन सकता है। हेपेटाइटिस-बी व सी के मरीजों के संपर्क में आने से, उनसे फैले इन्फेक्शन से, दूषित ब्लड से, उनके साथ बैठकर खाने से भी पीलिया हो सकता है। न सिर्फ दूषित पानी बल्कि सड़े-गले व ज्यादा देर से कटे हुए फल खाने से, खुले में रखे अन्य खाद्य पदार्थ खाने से, जिन खाद्य पदार्थों पर मक्खियां मंडराती हो उनका सेवन करना भी पीलिया होने के प्रमुख कारणों में शामिल है।

बता दें पीलिया खुद में कोई बीमारी नहीं है। बल्कि ये तो लिवर में हुई खराबी का एक लक्षण होता है। पीलिया किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। अगस्त से लेकर अक्टूबर के महीने के बीच ज्यादातर लोग पीलिया से प्रभावित होते हैं।

पीलिया के लक्षण-

  • त्वचा और आंखों का रंग पीला हो जाना
  • खुजली
  • पीला मल
  • उल्टी
  • गहरा रंग मूत्र
  • पेट में दर्द

Related posts