जया एकादशी व्रत आज, इस तरह करें पूजा, मिलेगी पापों से मुक्ति

jaya ekadashi,jaya ekadashi 2020,jaya ekadashi vrat

चैतन्य भारत न्यूज

माघ मास की शुक्ल पक्ष एकादशी को जया एकादशी कहा गया है। जया एकादशी का व्रत बहुत ही शुभ माना गया है। इस दिन व्रत रखने से व्यक्ति की हर मनोकामना पूर्ण होती है। इस बार जया एकादशी 23 फरवरी को यानी आज है। आइए जानते हैं जया एकादशी का महत्व और पूजा-विधि।



jaya ekadashi,jaya ekadashi 2020,jaya ekadashi vrat

जया एकादशी व्रत का महत्व

हिंदू धर्म में माघ शुक्‍ल में आने वाली जया एकादशी का विशेष महत्‍व है। मान्‍यता है कि इसका व्रत करने से मनुष्य पापों से छूट कर मोक्ष को प्राप्त होता है। यही नहीं इसके प्रभाव से भूत, पिशाच आदि योनियों से भी मुक्त हो जाता है। इस दिन श्री हरि विष्‍णु की पूजा की जाती है। कहते हैं कि जिस मनुष्य ने इस एकादशी का व्रत किया है उसने मानो सब यज्ञ, जप, दान आदि कर लिए।

jaya ekadashi,jaya ekadashi 2020,jaya ekadashi vrat

जया एकादशी पूजा-विधि

  • एकादशी के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्‍नान करें।
  • भगवान विष्‍णु का ध्‍यान करें और व्रत का संकल्‍प लें।
  • अब घर के मंदिर में एक चौकी में लाल कपड़ा बिछाकर भगवान विष्‍णु की प्रतिमा स्‍थापित करें।
  • अब एक लोटे में गंगाजल लें और उसमें तिल, रोली और अक्षत मिलाएं।
  • इसके बाद भगवान विष्‍णु को धूप-दीप दिखाकर उन्‍हें पुष्‍प अर्पित करें।
  • अब घी के दीपक से विष्‍णु की आरती उतारें और विष्‍णु सहस्‍नाम का पाठ करें।
  • जया एकादशी के दिन तिल का दान करना अच्‍छा माना जाता है।
  • शाम के समय भगवान विष्‍णु की पूजा कर फलाहार ग्रहण करें।

ये भी पढ़े…

इस दिन है षटतिला एकादशी, जानिए व्रत का महत्व और पूजन-विधि

मोक्षदा एकादशी : इस दिन श्रीकृष्ण ने दिया था गीता उपदेश, जानिए इसका महत्व और पूजन-विधि

बुधवार को इस मंत्र के जाप पूर्ण करें अपना व्रत, जरुर प्रसन्न होंगे भगवान गणेश

Related posts