JEE Main Exam 2021: पहली बार अंग्रेजी के साथ इन 13 भाषाओं में होगी परीक्षा, हटाई गई निगेटिव मार्किंग

चैतन्य भारत न्यूज

JEE मुख्य परीक्षा की तारीखों का ऐलान हो गया है। अब से जेईई मुख्य परीक्षा साल में चार बार आयोजित की जाएगी। केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने बुधवार को इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि जेईई मेन्स की परीक्षा 4 सेशन में होगी। पहला सेशन 23 से 26 फरवरी 2021 के बीच होगा। वहीं, अन्य तीन सेशन मार्च, अप्रैल और मई में होंगे। पहली बार जेईई मुख्य परीक्षा अंग्रेजी के साथ हिंदी समेत 13 भारतीय भाषाओं में भी होगी। इनमें असमिया, उड़िया, तेलुगु, तमिल और उर्दू आदि शामिल हैं।

अब से JEE MAINS साल में चार बार आयोजित की जाएगी। पहली परीक्षा फरवरी (23 से 26 के बीच), दूसरी मार्च, तीसरी अप्रैल और चौथी मई में होगी। वहीं, ऑब्जेक्टिव सवालों से इस बार नेगेटिव मार्किंग हटा ली गई है। NTA ने परीक्षा के पैटर्न में भी बड़ा बदलाव किया है। अब कैंडिडेट्स को 90 सवालों में से 75 सवाल अनिवार्य रूप से अटेम्प्ट करना होंगे। वहीं प्रत्येक सेक्शन ( केमिस्ट्री, फिजिक्स, मैथेमैटिक्स) से 25-25 सवाल अटेम्प्ट करना अनिवार्य होगा।

कुछ दिन पहले ही मंत्रालय इस बात पर विचार कर रहा था कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा साल में कितनी बार आयोजित किया जाए साथ ही प्रश्नों को संख्या को लेकर भी मंत्रालय द्वारा विचार किया जा रहा था। शिक्षा मंत्री ने कहा कि, इससे अभियार्थी को बिना साल बर्बाद किए अपना स्कोर सुधारने में मदद मिलेगी। पहली बार परीक्षा देकर अभ्यर्थियों को अनुभव मिलेगा और अगर वे पास नहीं हो पाते हैं तो वे जान पाएंगे कि उन्होंने क्या गलती की है जिसे वे अगली बार परीक्षा देते वक्त सुधार पाएंगे। इससे उनका साल बर्बाद नहीं होगा। अगर किसी की परीक्षा किसी कारण से छूट जाती है तो भी उसे अगली परीक्षा देने के लिए पूरे साल का इंतज़ार नहीं करना होगा।’

ये भी पढ़े…

JEE Main Exam 2021: साल में चार बार होगी जेईई मेन की परीक्षा, शिक्षामंत्री ने बताया फरवरी का शेड्यूल

क्षेत्रीय भाषाओं में भी होगी जेईई-मेन परीक्षा

 

Related posts