JNU में कैसे भड़की हिंसा की आग? प्रशासन ने बताया किस तरह नकाबपोशों ने कैंपस में घुसकर किया हमला

jnu

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में रविवार रात बड़ी संख्या में कुछ नकाबपोश लोग हाथों में डंडे लिए छात्र-छात्राओं को पीटते नजर आए। इन नकाबपोशों ने साबरमती हॉस्टल समेत जेेएनयू की कई बिल्डिंग में जमकर तोड़फोड़ की। इन्होंने लोहे की रॉड से छात्रों और शिक्षकों की पिटाई की, जिसके बाद 23 लोगों को एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिन्हें अब डिस्चार्ज कर कर दिया गया है।


बता दें आज जेएनयू के अलावा देश की कई यूनिवर्सिटी, कैंपस में दिल्ली पुलिस के एक्शन पर विरोध प्रदर्शन किया जाना है। सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने जेएनयू हिंसा मामले में पहली FIR दर्ज कर ली है। साथ ही अब इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अब तक जो वीडियो सामने आए हैं उनमें कुछ की पहचान की जा रही है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिशें भी की जा रही हैं।

जेएनयू प्रशासन का कहना है कि, ‘हॉस्टल-सेमेस्टर फीस का विरोध और समर्थन कर रहे छात्रों के बीच यह संघर्ष हुआ, जो बाद में हिंसा में बदल गया।’ बता दें पुलिस ने हिंसा के मामले में अब तक 4 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। जेएनयू प्रशासन ने बताया कि, ‘8 अक्टूबर से कैंपस में हॉस्टल फीस में हुई बढ़ोतरी के विरोध में छात्रसंघ समेत आम छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी है। इसके तहत छात्रों ने दिसंबर की सेमेस्टर परीक्षाओं का बहिष्कार किया था। दो दिन तक लेफ्ट संगठनों ने सर्वर रूम पर कब्जा कर रखा था और रजिस्ट्रेशन नहीं होने दे रहे थे।’


प्रशासन ने आगे बताया कि, ‘रविवार को कुछ छात्र विंटर सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन के आखिरी दिन रजिस्ट्रेशन करने जा रहे थे। इस दौरान प्रॉक्टर ऑफिस के बाहर छात्रसंघ समेत वामपंथी छात्र संगठनों ने उन छात्रों को रोकने की कोशिश की। तभी उनके बीच धक्का-मुक्की और कहासुनी शुरू हो गई। मौके पर कुछ शिक्षक भी मौजूद थे, लेकिन किसी ने भी लेफ्ट छात्र संगठनों को मारपीट करने से नहीं रोका।’

शाम होते ही कैंपस में घुसे नकाबपोश बदमाश

सूत्रों के मुताबिक, जेएनयू परिसर में स्थित साबरमती टी प्वॉइंट पर जेएनयू छात्रसंघ द्वारा एक सभा आयोजित की गई थी। इसमें बड़ी संख्या में छात्र मौजूद थे और अपने विचार रख रहे थे। फिर शाम करीब 6:30 बजे कैंपस में अचानक 40 से 50 युवक अपने चेहरे पर नकाब पहनकर और हाथों में लाठियां लेकर कैंपस में घुस आए और उन लोगों ने छात्रों से मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद पूरे परिसर में अफरातफरी का माहौल बन गया। बाद में नकाबपोश लोगों ने साबरमती हॉस्टल में और गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ भी की।

दिल्ली पुलिस गो बैक के लगे नारे

दिल्ली पुलिस को जैसे ही हिंसा की जानकारी मिली तो वो तुरंत कैंपस के मेन गेट पहुंची। बताया जा रहा कि पहले तो दिल्ली पुलिस को कैंपस में प्रवेश होने की इजाजत नहीं दी। लेकिन बाद में वाइस चांसलर से अनुमति मिलते ही दिल्ली पुलिस ने कैंपस में प्रवेश किया और हालात को काबू करने की कोशिश में जुट गई। इसके बाद छात्रों ने ‘दिल्ली पुलिस गो बैक’ के नारे भी लगाए।

ये भी पढ़े…

JNU में आपस में भिड़े दो छात्र समूह, छात्र संघ अध्यक्ष समेत 18 छात्र AIIMS में भर्ती, मिलने पहुंचीं प्रियंका गांधी

दिल्लीः जेएनयू से बाहर आया फीस वृद्धि के खिलाफ आंदोलन, गुस्साए छात्रों ने किया जमकर हंगामा

जेएनयू : छात्रों के प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, जानें पहले क्या थी और अब कितनी बढ़ी फीस?

 

Related posts