UP : यहां खेली जाती है जूता-मार होली, ‘लाट साहब’ का भी जुलूस निकाला जाता है

चैतन्य भारत न्यूज

होली के त्योहार देशभर में हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है। कुछ जगहों पर अनोखी होली खेली जाती है जहां की चर्चा भी होती है। हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे हैं जहां जूता मार होली खेली जाती है। जी हां… इस होली को ‘लाट साहब की होली’ भी कहा जाता है। इस होली के लिए शहर की मस्जिदों को ढक दिया जाता है।

‘लाट साहब’ का निकालता है जुलूस 

यह अनोखी होली उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर में खेली जाती है। यहां लाट साहब के जुलूस निकाले जाते हैं। इसमें एक शख्स को लाट साहब बनाकर भैंसा-गाड़ी पर बैठाया जाता है और फिर उसे जूते और झाड़ू मारकर पूरे शहर में घुमाया जाता है। इस दौरान आम लोग लाट साहब को जूते भी फेंक कर मारते हैं। जुलूस में भारी संख्या में लोग भी मौजूद रहते हैं। ऐसे में कई बार मस्जिदों पर भी रंग चला गया था इसलिए इस बार मस्जिदों को ढांक दिया गया है।

क्यों होती है ऐसी होली

माना जाता है कि अंग्रेजों के प्रति अपना आक्रोश प्रकट करने के लिए यहां एक व्यक्ति को अंग्रेज का प्रतीक लाट साहब बनाकर उसे भैंसा गाड़ी पर बिठाया जाता है। फिर जूतों और झाड़ू से पीटा जाता है। सांप्रदायिक सौहार्द ना खराब हो इसके लिए पुलिस और प्रशासन हर थाना स्तर पर पीस मीटिंग का आयोजन करता है।

इस बार सुरक्षा व्यवस्था अधिक

जिले के पुलिस अधीक्षक आनंद ने बताया कि शहर में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी और कई जिलों की पुलिस फोर्स बुलाई गई है, जो मस्जिदों और पूरे शहर की सुरक्षा करेगी। उन्होंने यह भी बताया कि, साथ ही ड्रोन के जरिए भी जुलूस पर नजर रखी जाएगी।

Related posts