काबुल : महिलाओं को स्विमिंग पूल में जाने की इजाजत मिली, लेकिन इस शर्त पर

women in swimming pool

चैतन्य भारत न्यूज

काबुल. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में महिलाओं को तैरने की इजाजत मिल गई है। लेकिन इसके लिए भी शर्त रखी गई हैं। बता दें काबुल में साल 2001 में पहला स्विमिंग पूल खोला गया था, जो सिर्फ पुरुषों के लिए ही था। इतने सालों बाद अब काबुल की महिलाओं को स्विमिंग पूल में जाने की इजाजत दी गई है।


यह है शर्त

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट्स के मुताबिक, काबुल में महिलाओं के लिए पूल में जाने के कुछ नियम भी बनाए गए हैं। पहला नियम है कि यहां आने से पहले उन्हें अपने फोन रखने होंगे, क्योंकि इस दौरान फोटो खींचने की अनुमति नहीं दी गई है। इस बारे में एक महिला ने बताया कि, जब वह पूल में तैरती है तो वह तालिबानी हमलों या आत्मघाती हमलों की परवाह नहीं करती है।

सऊदी अरब में महिलाओं की कई बंदिशें दूर

बता दें जब काबुल में तालिबान का शासन था उस दौरान महिलाओं को खेलों, सार्वजानिक शिक्षा और नौकरियों में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं थी। लेकिन साल 2001 में अमेरिका ने तालिबान को सत्ता से हटा दिया गया है। न सिर्फ काबुल बल्कि कई ऐसे मुस्लिम देश हैं जहां महिलाओं को बहुत सारी बंदिशें झेलनी पड़ती हैं। हालांकि सऊदी अरब जैसे देशों ने अब कई बंदिशें दूर भी की हैं।

महिलाओं को गाड़ी चलाने की अनुमति

जानकारी के मुताबिक, पहले सऊदी अरब में महिलाओं को गाड़ी चलाने की भी अनुमति नहीं थी। लेकिन अब वहां की सरकार ने महिलाओं के गाड़ी चलाने पर लगे बैन को खत्म कर दिया है। साथ ही सऊदी में महिलाओं के ड्रेस कोड में छूट दी गई थी। पहले वहां महिलाओं को उनकी पोशाक पहनना अनिवार्य था जिसे अब खत्म कर दिया गया है।

ये भी पढ़े…

सऊदी अरब सरकार का बड़ा फैसला, अब रेस्तरां में महिला-पुरूष एक साथ करेंगे प्रवेश

रणनीतिक साझेदारी काउंसिल समेत भारत और सऊदी अरब ने कई समझौतों पर किए हस्ताक्षर

ड्राइविंग व नौकरी करने के अधिकारों को निकाह की शर्तों में शामिल करा रही हैं सऊदी अरब की महिलाएं

सऊदी के प्रिंस की चेतावनी- अगर ईरान को रोकने में दुनिया साथ नहीं आई, तो आसमान छुएंगे तेल के दाम

Related posts