आयकर विभाग की छापेमारी पर कमलनाथ ने कहा- सरकार इन संस्थाओं का उपयोग डराने के लिए करती है…

kamalnath,kamalnath says on income tax raid

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की छापेमारी की गई। हाल ही में कमलनाथ ने इसे मोदी सरकार द्वारा जानबूझकर करवाई जाने वाली कार्रवाई बताया है। कमलनाथ ने कहा कि, ‘लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी को अपनी हार सामने नजर आने लगी है और इसलिए वह इस तरह की कार्रवाई जानबूझकर चुनाव में लाभ लेने के लिए कर रही है।’ मुख्यमंत्री का कहना है कि, ‘पूरा देश जानता है कि भाजपा सरकार संवैधानिक संस्थाओं का किस तरह इस्तेमाल करती रही है।’

करोड़ों के बेहिसाबी लेनदेन आए सामने

बता दें आयकर विभाग की दिल्ली विंग की एक टीम रविवार तड़के 3 बजे से ही मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी लोगों के मप्र, गोवा, पश्चिम बंगाल और दिल्ली के 52 ठिकानों पर कार्रवाई कर रही थी जो सोमवार देर रात तक जारी रही। इस कार्रवाई में करोड़ों रुपए के बेहिसाबी लेनदेन सामने आए हैं। आयकर विभाग के एक अंग सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने दावा किया है कि, दिल्ली में पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के तुगलक रोड स्थित आवास से पार्टी के मुख्यालय में 20 करोड़ रुपए नकद भेजे गए। इसके अलावा बोर्ड ने सोमवार देर रात बयान जारी किया और कहा कि, ‘इस छापेमारी में 14.6 करोड़ रुपए का बेहिसाबी कैश, 252 शराब की बोतलें, हथियार और साथ ही बाघ की खाल भी जब्त की गई हैं।’

केंद्र सरकार से नहीं डरते कमलनाथ

छापे की कार्रवाई में 281 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं जिनका कोई हिसाब नहीं है। बता दें इस छापेमारी में 300 अधिकारियों को शामिल किया गया है। कमलनाथ ने यह भी आरोप लगाया है कि, ‘सरकार इन संस्थाओं का उपयोग डराने के लिए करती रहती है।’ साथ ही सीएम ने कहा, ‘जब उनके (मोदी सरकार) पास विकास पर, अपने काम पर कुछ कहने और बोलने को नहीं बचता है तो ये विपक्ष के खिलाफ इस तरह के हथकंडे अपनाती है।’ मुख्यमंत्री ने एक पत्र भी जारी किया है जिसके जरिए उन्होंने यह स्पष्ट किया है कि वो केंद्र सरकार की इस तरह की कार्रवाई से नहीं डरते हैं।

ये भी पढ़े….

मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और सहयोगियो के ठिकानों पर आयकर छापे

मप्र के मुख्यमंत्री के करीबियों पर आयकर छापे : 281 करोड़ के बेहिसाबी लेन-देन का शक

Related posts