‘राजद्रोह’ केस में पेशी के बाद भड़कीं कंगना, SC से पूछा- क्या ये मध्ययुग है जहां महिलाओं को जला दिया जाता है?

चैतन्य भारत न्यूज

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की कानूनी लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। शुक्रवार को कंगना देशद्रोह व अन्य मामलों में अपना बयान दर्ज कराने के लिए मुंबई के बांद्रा पुलिस थाने पहुंची। पूछताछ के बाद कंगना ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया, जिसमें वे काफी गुस्से में नजर आईं।

बता दें कंगना पर बॉलीवुड में अपने ट्वीट्स के जरिए नफरत फैलाने के आरोप लगे हैं। कहा गया है कि उन्होंने हिंदू-मुस्लिम के नाम पर माहौल बिगाड़ा है। ये तमाम आरोप कास्टिंग डायरेक्टर साहिल सईद ने लगाए हैं। उन पर राजद्रोह के तहत मामला दर्जा हुआ है।

कंगना रनौत ने ट्वीट में लिखा कि, ‘अगर आप भारत के विरोधी हैं तो आपको बहुत सारा समर्थन, काम, पुरस्कार और प्रशंसा मिलेगी। अगर आप राष्ट्रवादी हैं तो आपको अकेले ही खड़ा होना पड़ेगा। अपनी स्वयं की सहायता प्रणाली बनें और अपनी स्वयं की अखंडता की सराहना करें।’


वीडियो के जरिए उठाए सवाल

इससे पहले कंगना ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि उनकी आवाज दबाई जा रही है। उन्होंने कहा कि उन्हें पुलिस में हाजिरी देने के लिए कहा जा रहा है लेकिन ये नहीं बताया जा रहा है कि कहां आना है, कैसे हाजिरी देनी है। उनकी नजरों में उन्हें अपने विचार व्यक्त करने से भी रोका जा रहा है। वायरल वीडियो में एक्ट्रेस बता रही हैं कि, उन पर कई सारे केस कर दिए गए हैं। उनकी बहन रंगोली पर भी लगातार निशाना साधा जा रहा है। वे कहती हैं- जब से मैंने देश के हित में बात की है, मेरा शोषण किया जा रहा है, गैरकानूनी तरीके से मेरा घर तोड़ दिया गया, हंसने पर भी मेरे खिलाफ केस हुआ है। वहीं पेशी देने वाली बात पर भी कंगना बिफरी नजर आईं। उनकी नजरों में उन्हें पुलिस स्टेशन में हाजिरी देने के लिए कहा जा रहा है लेकिन ये नहीं बताया जा रहा कि कहा हाजिरी देनी है, कैसे देनी है।

सुप्रीम कोर्ट से कंगना का सवाल

वीडियो में कंगना रनौत ने देश की अदालत के सामने भी गंभीर सवाल उठा दिया है। उनके मुताबिक उन्हें इस देश में अपने विचार खुलकर व्यक्त नहीं करने दिए जा रहे हैं। इस बारे में वे कहती हैं- मैं सुप्रीम कोर्ट से पूछना चाहती हूं, क्या ये मध्ययुग है जहां महिलाओं को जला दिया जाता है, जहां वो कुछ बोल भी नहीं सकती, इस तरह के अत्याचार सारी दुनिया के सामने हो रहे हैं। एक्ट्रेस ने वीडियो के अंत में राष्ट्रहिट में आवाज बुलंद करने वाले लोगों से अपील की है कि वे सभी साथ आए हैं और इसका विरोध करें। उन्होंने देश की जनता को कहा है कि वे उनके लिए अब स्टैंड ले।

ये है मामला

मुंबई पुलिस ने 17 अक्टूबर 2020 को कथित तौर पर दो समुदायों के बीच विवाद बढ़ाने और अन्य आरोपों के लिए स्थानीय अदालत के आदेश पर कंगना और रंगोली के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। कंगना पर धार्मिक भावनाएं भड़काने, कलाकारों को हिंदू-मुसलमान में बांटने और सामाजिक द्वेष को बढ़ावा देने का आरोप लगा गया। कास्टिंग डायरेक्टर और फिटनेस ट्रेनर मुनव्वर अली सयैद ने कंगना और उनकी बहन के ट्वीट एवं बयान का संदर्भ देते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।

 

Related posts