क्रिकेटर शाकिब अल हसन की काली पूजा पर हो रहा विरोध, कंगना बोलीं- हम तो सारी उम्र मस्जिद में बिता दें, फिर भी राम नाम कोई दिल से नहीं निकाल सकता

चैतन्य भारत न्यूज

बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर क्रिकेटर शाकिब अल हसन को काली पूजा में शामिल होने के बाद इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा जान से मारने की धमकी मिली थी जिसके बाद उन्हें मांफी मांगने के लिए मजबूर होना पड़ा है। अब अभिनेत्री कंगना रनौत ने बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब-अल-हसन के मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। कंगना ने इस्लामिक कट्टरपंथियों को आड़े हाथ लिया और उन पर निशाना साधा है।

कंगना ने साधा निशाना

कंगना ने लगातार कई ट्वीट किए हैं। उन्होंने कहा कि मंदिरों से इतना क्यों डरते हो? खुद की इबादत पर भरोसा नहीं है। कंगना ने एक न्यूज रीट्वीट करते हुए इस मामले पर कॉमेंट किया है। न्यूज में लिखा है, बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब-अल-हसन को कोलकाता में काली पूजो अटेंड करने के लिए जबरन माफी मंगवाई गई। उन्हें जान से मारने की धमकी भी मिली थी। कंगना ने इस पर कॉमेंट किया है, ‘क्यूँ डरते हो इतना मंदिरों से? कोई तो वजह होगी? यूंही कोई इतना नहीं घबराता, हम तो सारी उम्र मस्जिद में बिता दें फिर भी राम नाम कोई दिल से नहीं निकाल सकता, खुद की इबादत पे भरोसा नहीं या अपना ही हिंदू अतीत तुम्हें मंदिरों से आकर्षित करता है? पूछो खुद से।।।’

इसके अलावा, कंगना रनौत ने आगे लिखा, ‘अपने ही देश में एक गुलाम की तरह व्यवहार किए जाने की वजह से बीमार और थक गए, हम अपने त्यौहार नहीं मना सकते, सच नहीं बोल सकते और अपने पूर्वजों की रक्षा कर सकते हैं, हम आतंकवाद की निंदा नहीं कर सकते, अंधेरे के रखवाले द्वारा ऐसे शर्मनाक गुलामों के जीवन को नियंत्रित करने की बात क्या है।’

ट्विटर पर इस्लामिक प्रोपेगेंडा फैलाने को लेकर साधा निशाना

साथ ही कंगना ने ट्विटर और ट्विटर इंडिया पर इस्लामिक प्रोपेगेंडा फैलाने को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा लिखा, ‘जैक, ट्विटर और ट्विटर इंडिया आप पक्षपात करते हो और इस्लामिस्ट प्रोपेगैंडा फैलाते हैं, जोकि निराशाजनक है। आप टिन एक्साइल का अकाउंट सस्पेंड क्यों नहीं करते? क्योंकि वे हमारे इतिहास के फर्जी किरदार गढ़ रहा है? आप पर शर्म आती है, उस दिन का इंतजार कर रही हूं, जब आप इसे भारत में प्रतिबंध करेंगे। पीएम इंडिया को ट्विटर के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए।’

ये है मामला

बता दें कि शाकिब अल हसन 16 नवंबर को कोलकाता काली पूजा करने के लिए पहुंचे से और इसी वजह से उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है। बांग्लादेश के किसी खिलाड़ी को इस तरह से जान से मारने की धमकी मिलने की यह पहली घटना है। शाकिब अल हसन ने काली पूजा का फेसबुक लाइव किया था और इसी दौरान उनके खिलाफ एक व्यक्ति ने अपशब्द इस्तेमाल किए और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद शाकिफ़ ने माफी मांगते हुए बता दें कि शाकिब अल हसन ने एक ऑनलाइन फोरम पर कहा, ‘मैं उस कार्यक्रम में स्टेज पर मुश्किल से दो मिनट के लिए था। लोग इस बारे में बात कर रहे हैं और समझ रहे हैं कि मैंने इसका उद्घाटन किया है।” उन्होंने कहा, ”मैंने ऐसा नहीं किया और एक जागरुक मुस्लिम होने के नाते मैं ऐसा नहीं करूंगा। लेकिन शायद मुझे वहां नहीं जाना चाहिए था। मैं इसके लिए माफी चाहता हूं और सभी से माफी मांगता हूं।’

Related posts