विकास दुबे एनकाउंटर का मामला पहुंचा मानवाधिकार आयोग, इस कलाकार ने की शिकायत

चैतन्य भारत न्यूज

8 पुलिसकर्मियों की मौत का मुख्य आरोपी विकास दुबे का आज आखिरकार खेल खत्म हो ही गया। कानपुर में विकास दुबे मारा गया।एसटीएफ गाड़ी उसे कानपुर ला रही ला रही थी। इस दौरान गाड़ी अचानक पलट गई। फिर विकास ने पुलिसवालों से हथियार छीनकर भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने उसे मुठभेड़ में मार गिराया है। अब विकास दुबे के एनकाउंटर पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। एनकाउंटर का ये मामला राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग तक पहुंच गया है।


विकास दुबे एनकाउंटर मामले में बिग बॉस 13 के कंटेस्टेंट तहसीन पूनावाला द्वारा NHRC में शिकायत दर्ज की गई है। शिकायत में न सिर्फ विकास दुबे एनकाउंटर बल्कि उसके पांच साथियों के मारे जाने की बात शामिल की गई है। शिकायत में कहा गया है कि विकास दुबे ने खुद सभी के सामने सरेंडर किया था।

शिकायत में क्या लिखा

साथ ही शिकायत में दावा किया गया है कि वीडियो फुटेज में विकास दुबे टाटा सफारी में बैठा हुआ दिख रहा है, जबकि जो पुलिस की गाड़ी पलटी है वो किसी और कंपनी की है। ऐसे में इस एनकाउंटर और घटना पर शक पैदा होता है। शिकायतकर्ता ने इस मामले में विस्तृत जांच के लिए अपील की है।

उज्जैन से पकड़ा गया था विकास दुबे

विकास दुबे को गुरुवार को उज्जैन से गिरफ्तार किया गया था। उसने महाकालेश्वर मंदिर की पर्ची कटाई, मंदिर के दर्शन किए और इसके बाद खुद ही सरेंडर कर दिया। बताया ये भी जा रहा है कि उसने मंदिर के बाहर खड़े होकर अपना नाम चिल्लाया, फिर लोगों ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद भी विकास पर कोई असर नहीं दिखा और मीडिया के सामने चिल्लाने लगा, ‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला।’ बाद में उसे उत्तर प्रदेश एसटीएफ के हाथों सौंप दिया गया। फिर पुलिस उसे सड़क मार्ग से कानपुर ला रही थी और तभी यह हादसा हुआ जिसमे गैंगस्टर मारा गया।

Related posts