कर्नाटक उपचुनाव नतीजे : मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने किया कांग्रेस-जेडीएस का सूपड़ा साफ, पीएम बोले- जनता ने कांग्रेस को दी सजा

yeddyurappa

चैतन्य भारत न्यूज

बेंगलुरु. कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव के नतीजे आ गए हैं, जिसमें भारतीय जनता पार्टी ने शानदार जीत दर्ज की है। बीजेपी ने 15 में से 12 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि कांग्रेस के खाते में दो सीटें गई और जेडीएस अपना खाता नहीं खोल पाई। निर्दलीय प्रत्याशी ने भी एक सीट पर जीत दर्ज की है। इसी के साथ विधानसभा में बीजेपी बहुमत के आंकड़े को पार कर गई है। कर्नाटक की 222 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के पास 117 विधायक हैं। कांग्रेस के पास 68 और जेडीएस 34 सीट हैं।


येदियुरप्पा ने जाहिर की खुशी

इस जीत पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि, ‘मैं खुश हूं कि इतना अच्छा जनाधार मिला। अब बिना किसी दिक्कत के हम राज्य में एक स्थायी और जनहितकारी सरकार दे सकते हैं। मैं जीते हुए 12 प्रत्याशियों में 11 को कैबिनेट मंत्री बनाऊंगा। मैंने रानीबेन्नूर से जीते बीजेपी प्रत्याशी से वादा नहीं किया था। 11 मंत्री बनाने में कोई समस्या नहीं है। मैं अगले 3-4 दिनों में दिल्ली जाऊंगा और अंतिम रूप दूंगा।’

कर्नाटक में जोड़-तोड़ नहीं : पीएम मोदी

कर्नाटक में बीजेपी की इस शानदार जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, ‘आज कर्नाटक के लोगों ने सुनिश्चित कर दिया है कि अब कांग्रेस और जेडीएस वहां के लोगों के साथ विश्वासघात नहीं कर पाएंगे। अब कर्नाटक में जोड़-तोड़ नहीं, वहां की जनता ने एक स्थिर और मजबूत सरकार को ताकत दे दी है। जनादेश के खिलाफ जाने वालों को मिली सजा।’

राज्य में जश्न का माहौल

राज्य में बीजेपी की इस कामयाबी के बाद बीजेपी के खेमे में जश्न का माहौल है। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने अपने बेटे बीवाई विजयेंद्र के साथ जश्न मनाया। इस दौरान दोनों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाई। साथ ही बीजेपी दफ्तर के बाहर कार्यकर्ता भी जश्न मना रहे हैं।

5 दिसंबर को हुए थे चुनाव

बता दें कर्नाटक में 5 दिसंबर को 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे जिनकी आज मतगणना हुई। 5 सीटों पर उपचुनाव में 66.49 फीसदी वोटिंग हुई थी। जानकारी के मुताबिक, इन 15 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 165 उम्मीदवार मैदान में खड़े थे, जिसमें 126 निर्दलीय और 9 महिलाएं शामिल थीं। बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी 15 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा, जबकि जेडीएस ने 12 सीटों के लिए लड़ा।

क्यों आई उपचुनाव की नौबत

येदियुरप्पा के सत्ता में आने से पहले कांग्रेस-जेडीएस की सरकार कांग्रेस के 14 व जेडीएस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिससे सरकार गिर गई थी। उन सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार दे दिया। इसलिए अब 15 सीटों पर उपचुनाव कराए गए और दो सीटों के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा चल रहा है।

इन सीटों पर हुए चुनाव

गोकक, कागवाड, अथानी, येल्लपुरा, हिरेकेरूर, रवबेन्नुर, विजय नगर, चिकबल्लापुरा, केआरपुरा, यशवंतपुरा, महालक्ष्मी लायुत, शिवाजी नगर, होसकोटे, हंसुर और केआर पेटे विधानसभा सीटें शामिल हैं। मस्की और राजराजेश्वरी इन दोनों सीटों पर बाद में चुनाव होंगे।

ये भी पढ़े…

विधानसभा में पोर्न वीडियो देखने वाले नेता को येदियुरप्पा ने बनाया उप मुख्यमंत्री, पार्टी के ही लोग कर रहे विरोध

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले येदियुरप्पा ने अपने नाम में किया बड़ा बदलाव, हटाए ये दो शब्द

महज 80 घंटे ही मुख्यमंत्री रहे फडणवीस, इन मुख्यमंत्रियों का कार्यकाल भी रहा सबसे कम

Related posts