कठुआ रेप-मर्डर केस : 6 में से तीन दोषियों को उम्रकैद, तीन को 5-5 साल की सजा और 50 हजार जुर्माना

kathua rape,aasifa,kathua rape case news

चैतन्य भारत न्यूज

साल 2018 की शुरुआत में जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुई सामूहिक दुष्कर्म और मर्डर की घटना पर आज पठानकोट अदालत ने फैसला सुनाया है। 8 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले कुल 7 आरोपियों में से 6 आरोपियों को अदालत ने दोषी करार दिया है। इनमें से तीन आरोपियों को उम्रकैद की सजा हुई है। यह तीन आरोपी हैं सांझी राम (मुख्य आरोपी), दीपक खजुरिया और परवेश। 3 अन्य आरोपियों को अदालत ने 5-5 साल की सजा सुनाई है। साथ ही उन्हें 50-50 हजार का जुर्माना भी देना होगा। यह तीनों आरोपी तिलक राज, आनंद दत्ता और सुरेंद्र कुमार हैं। अदालत ने सोमवार सुबह सुनवाई के दौरान सातवें आरोपी और सांझी राम के बेटे विशाल को बरी कर दिया था।

इन 6 आरोपियों को दोषी करार दिया गया है:

1. ग्राम प्रधान सांजी राम (मुख्य आरोपी)

2. स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया

3. रसाना गांव परवेश दोषी

4. असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर तिलक राज

5. असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता

6. पुलिस ऑफिसर सुरेंद्र कुमार

अदालत ने इस केस में तीनों पुलिसकर्मियों को आईपीसी की धारा 201 (सबूत मिटाने) का दोषी करार दिया है। वहीं, मुख्य आरोपी सांझी राम पर आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 376 (रेप), 328 (अपराध करने के आशय से जहर या नशीला पदार्थ खिलाना), 343 (तीन या उससे अधिक दिनों के लिए बंदी बनाए रखना) लगाई गई हैं।

हैवानियत को पार करने वाली थी घटना

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 10 जनवरी 2018 को एक आठ साल की बंजारा समुदाय की बच्ची घोड़ों को चराने के लिए निकली थी। इसके बाद बच्ची घर नहीं लौटी थी। बच्ची को कठुआ जिले के एक गांव के मंदिर में बंधक बनाकर उसके साथ कई बार सामूहिक दुष्कर्म किया गया। फिर उसे चार दिन तक बेहोश रखा था। चार दिन बाद बच्ची की पत्थरों से मारकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। 17 जनवरी को उसकी लाश जंगलों में मिली थी। इस घटना के बाद देशभर में बवाल मचा था। आम आदमी से लेकर बॉलीवुड के कलाकार भी इंसाफ की गुहार लगा रहे थे।

Related posts