महाशिवरात्रि पर केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि का हुआ ऐलान, इस दिन दर्शन देंगे बाबा

kedarnath jyotirlinga,kedarnath jyotirlinga ka mahatav,kedarnath jyotirlinga ki viseshta, kedarnath jyotirlinga.kedarnath temple,kaise panhuche kedarnath jyotirlinga

चैतन्य भारत न्यूज

महाशिवरात्रि के पवन अवसर पर पंचांग गणना कर केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि का ऐलान हो गया है। बाबा केदारनाथ के कपाट 29 अप्रैल की सुबह 6:10 बजे आम लोगों के दर्शन के लिए खोले जाएंगे। अगले छह माह तक भक्त केदार बाबा के दर्शन कर सकेंगे।



इसके लिए ओंकारेश्वर मंदिर में खास तौर से तैयारियां की गई हैं। सुबह से ही बाबा की विशेष पूजा-अर्चना की जा रही है। सुबह 9 बजे के बाद रावल गद्दी परिसर में हक-हकूकधारियों, आचार्यगणों, बीकेटीसी के पदाधिकारियों की मौजूदगी में पंचांग गणना के आधार पर केदारनाथ धाम के कपाट खोलने की तिथि तय हुई। इसके बाद बाबा केदारनाथ की पंचमुखी भोगमूर्ति के चल उत्सव विग्रह डोली में विराजमान होकर धाम प्रस्थान का दिन भी तय किया गया।

जानकारी के मुताबिक, ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में 25 अप्रैल को भगवान भैरवनाथ की पूजा की जाएगी। फिर 26 अप्रैल को बाबा केदारनाथ की पंचमुखी डोली धाम प्रस्थान करेगी। 27 अप्रैल को गौरीकुंड में रात्रि विश्राम किया जाएगा और 28 अप्रैल शाम को पंचमुखी डोली केदारनाथ धाम पहुंचेगी। फिर 29 अप्रैल को मेष लग्न में सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे।

केदारनाथ यात्रा के लिए ओंकारेश्वर में महायज्ञ  

पंडित रावल भीमाशंकर लिंग ने बताया कि, महाशिवरात्रि पर धार्मिक मान्यताओं और परंपराओं के तहत भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना के साथ कपाट खुलने की तिथि तय की जाती है। केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि तय होते ही यात्रा से संबंधित सभी तैयारियां भी शुरू हो जाती है। केदारनाथ यात्रा के कुशल संचालन के लिए ओंकारेश्वर मंदिर परिसर में महायज्ञ भी होता है। महाशिवरात्रि पर दोपहर को कई धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

badrinath,badrinath temple,badrinath kapat,badrinath kapaat band hone ka samay,kab band honeg badrinath ke kapaat

इस दिन खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट 

बता दें 30 अप्रैल को बाबा बद्रीनाथ धाम के भी कपाट खोल दिए जाएंगे। उनके कपाट सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर ब्रह्म मुहूर्त में आम श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। बता दें पिछले साल 17 नवंबर को शाम 5:13 बजे बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद कर दिए गए थे।

ये भी पढ़े…

अमरनाथ यात्रा 2020 का ऐलान, 23 जून से होगी शुरुआत, इन बैंकों से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है केदारनाथ धाम, जानिए इस ज्योतिर्लिंग का इतिहास और महत्व

बद्रीनाथ धाम: कभी ये हुआ करता था भगवान शिव का निवास स्थल लेकिन विष्णु ने धोखे से कर लिया था कब्जा

हर-हर महादेव के जयकारों के साथ खुले बाबा केदारनाथ के कपाट, हजारों श्रद्धालुओं ने किए दर्शन, 15 कुंतल फूलों से हुई सजावट

Related posts