शीतकाल के लिए बंद हुए केदारनाथ धाम के कपाट, भारी बर्फबारी के बीच फंसे सीएम योगी और त्रिवेंद्र सिंह रावत

चैतन्य भारत न्यूज

भगवान शिवशंकर के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा केदारनाथ धाम के कपाट बर्फबारी के बीच शीतकाल के लिए सुबह 8:30 बजे विधि-विधान के साथ बंद कर दिए गए हैं। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक, राज्य मंत्री धन सिंह रावत आदि मौजूद थे।

बर्फ़बारी के कारण फंसे सीएम योगी और रावत

भाई दूज पर केदारनाथ धाम के कपाट बर्फबारी के बीच आज सुबह 8।30 बजे शीतकाल के लिए विधि-विधान के साथ बंद कर दिए गए। कपाट बंद होने से पहले जोरदार बर्फबारी हुई है। बर्फबारी से केदारनगरी सफेद हो गई। वहीं गांगोत्री धाम में भी भारी बर्फ बारी हुई। भारी बर्फबारी के कारण उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत केदारनाथ में फंस गए हैं। बर्फबारी में हेलीकॉप्टर का उड़ना संभव नहीं है। इसलिए मौसम सही होने का इंतजार किया जा रहा है। मौसम में सुधार होने के बाद दोनों बदरीनाथ धाम के लिए रवाना होंगे।

मौसम ने अचानक ली करवट

गौरतलब है कि उत्तर भारत समेत कई पहाड़ी राज्यों में भी मौसम ने अचानक करवट ली है। जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल में हुई बर्फबारी और यूपी, दिल्ली, राजस्थान समेत कई राज्यों में रविवार को हुई बारिश के कारण तापमान एकाएक नीचे आ गया है।पहाड़ी इलाकों में बर्फ की सफेद चादर ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले कुछ दिनों में तापमान में और गिरावट देखी जा सकती है।

ये भी पढ़े…

केदारनाथ आपदा में मारे गए लोगों के कंकालों की खोजबीन का अभियान आज से शुरू, विधि-विधान से होगा अंतिम संस्कार

 भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है केदारनाथ धाम, जानिए इस ज्योतिर्लिंग का इतिहास और महत्व

केदारनाथ धाम: नर-नारायण की भक्ति से प्रसन्न होकर यहां प्रकट हुए थे भोलेनाथ

Related posts