दोनों हाथ नहीं होने से लड़की ने पैरों से लिखकर दी परीक्षा, 10वीं में मिले सभी विषयों में ए-प्लस

चैतन्य भारत न्यूज

अगर कुछ कर दिखाने का जज्बा हो तो हर नामुमकिन काम भी मुमकिन हो जाता है। ऐसा ही कुछ देविका ने किया। हाथ ना होने के बावजूद देविका ने अपनी पढ़ाई में किसी भी तरह की रूकावट नहीं आने दी। देविका ने पैरों से लिखकर 10वीं की परीक्षा में सभी विषयों में ए-प्लस ग्रेड हासिल किए हैं।

चित्रकार भी हैं देविका

केरल के मालापुरम की रहने वाली देविका का जन्म बिना हाथों के हुआ था। देविका के माता-पिता ने उन्हें पैरों से लिखना सिखाया। देविका ने 10वीं की पढ़ाई वल्लीकुन्नू के चंदन ब्रदर्स हायर सेकेंडरी स्कूल से पूरी की। वह पैरों से हिंदी, इंग्लिश और मलयालम भी लिख सकती हैं। देविका न सिर्फ पढ़ाई में अव्वल हैं बल्कि वह पेटिंग भी बहुत अच्छी करती हैं। देविना के अपने पैरों से कई सारी पेंटिंग भी बनाई हैं। उनकी पेंटिंग कोजहिकोडे आर्ट गैलरी प्रदर्शित की गई है।

सुरेश गोपी ने की प्रशंसा

देविका की सफलता के बाद उनके पिता संजीव ने बताया कि, वह अपनी कक्षा में औसत छात्रा थी। देविका की सफलता पर राज्य के पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने सम्मानित किया। देविका से मिलने मशहूर अभिनेता और सांसद सुरेश गोपी भी उनके घर पहुंचे और उन्होंने देविका की प्रशंसा भी की।

Related posts