खरमास 2020 : जरूर करें ये विशेष उपाय,दूर होंगे सभी कष्ट

june month festival,festival list,hindu festivals

चैतन्य भारत न्यूज

हिन्दू धर्म में खरमास का बड़ा महत्व है। खरमास में कई तरह के शुभ कार्यों पर रोक लग जाती है। इस माह में शादी-विवाह जैसे मांगलिक कार्य नहीं होते हैं। सूर्यदेव जब धनु राशि में आते हैं तब खरमास लगता है। खरमास का अंत मकर संक्रांति पर होता है। यह मास आध्यात्मिक रूप से विशेष महत्व रखता है। इस मास में जप-तप व दान करने का फल जन्मों जन्मों तक मिलता है। इस माह में कुछ विशेष उपाय करने से कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

  • खरमास में पड़ने वाली एकादशी का व्रत करना चाहिए। इससे भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है। साथ ही व्रती को बैकुंठ धाम मिलता है। इस दिन भगवान विष्णु जी की विशेष पूजा करनी चाहिए।
  • खरमास में जो व्यक्ति तुलसी की पूजा करता है उसे जीवन में धन-ऐश्वर्य प्राप्त होता है। खरमास में नित्य तुलसी की पूजा करना चाहिए। शाम को तुलसी के पौधे पर घी का दीपक जलाना चाहिए। तुलसी माता की पूजा करते समय ओम नम: भगवते वासुदेवाय नम: मंत्र का जप करें।
  • खरमास में माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि पाने के लिए शुक्रवार के दिन लक्ष्मी स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। इसका पाठ करने या सुनने से धन-धान्य की कमी नहीं होती और लक्ष्मी माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है।
  • खरमास में नित्य सुबह स्नान-ध्यान करने के पश्चात् पीपल की पूजा करना चाहिए। हर रोज सुबह पीपल के वृक्ष को जल दें और पूजा पाठ करें और सायंकाल के समय दीपक जलाएं। खरमास में यह उपाय आपकी कर्ज की समस्या को दूर कर देगा।
  • खरमास में गोवर्धनधरवन्देगोपालं गोपरूपिणम् गोकुलोत्सवमीशानं गोविन्दं गोपिकाप्रियम् मंत्र का जप करना चाहिए। मान्यता है कि पीले वस्त्र धारण करके इस मंत्र का जप करना अधिक लाभदायी माना जाता है।
  • इसके साथ ही दान-पुण्य करने से सभी कष्ट दूर होते हैं। खरमास में दान व हवन करना अधिक पुण्यदायी माना गया है।

ये भी पढ़े…

शुरू हुआ खरमास, जानें इस दौरान क्या करें और क्या न करें

साल के आखिरी महीने में आने वाले हैं ये प्रमुख तीज त्योहार, यहां देखें पूरी लिस्ट

 

Related posts