पुडुचेरी की उप-राज्यपाल पद से हटाई गईं किरण बेदी, इन्हे सौंपा गया अतिरिक्त प्रभार

चैतन्य भारत न्यूज

पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव के पहले बड़े सियासी उलटफेर के संकेत मिल रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किरण बेदी को पुडुचेरी के उपराज्यपाल के पद से हटा दिया है। मंगलवार शाम इस बारे में राष्ट्रपति भवन से आदेश जारी किया गया।राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने बताया कि तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन को पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अजय कुमार ने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति ने निर्देश दिया है कि डॉ. किरण बेदी अब पुडुचेरी की उपराज्यपाल नहीं रहेंगी। उन्होंने तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन को अपने दायित्वों का निर्वहन करने के साथ ही पुडुचेरी के उपराज्यपाल की जिम्मेदारी निभाने के लिए नियुक्त किया है। यह नई जिम्मेदारी उनके नए उपराज्यपाल के पदभार ग्रहण करने के बाद से प्रभावी हो जाएगी और वह पुडुचेरी के उपराज्यपाल की नियमित व्यवस्था कर लिए जाने तक इस पद पर रहेंगीं।


बता दें कि पुडुचेरी में इसी साल विधानसभा का चुनाव है। इस बीच इस केंद्रशासित प्रदेश में ये अहम घटनाक्रम हुआ है। पुडुचेरी में 2016 में विधानसभा चुनाव हुए थे। कांग्रेस को 15 सीटें मिली थीं। वी नारायणसामी मुख्यमंत्री बने थे। कांग्रेस के अलावा AINRC को 8, AIADMK को 4, DMK को 2 सीटें मिली थीं। एक निर्दलीय कैंडिडेट जीता था। यहां भाजपा के 3 नॉमिनेटेड विधायक हैं। सरकार का कार्यकाल 8 जून को पूरा होने वाला है। किरण बेदी को 29 मई 2016 को पुडुचेरी का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया था।

इससे पहले दस फरवरी को पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी और मांग की थी कि एलजी किरण बेदी को वापस बुलाया जाए। नारायणसामी का आरोप था कि उपराज्यपाल चुनी सरकार के प्रस्तावों के क्रियान्वयन में अवरोध पैदा कर रही हैं। राष्ट्रपति के साथ वी नारायण सामी आधे घंटे तक मिले थे।

Related posts