26 जनवरी को पहली बार दिल्ली में निकलेगी ट्रैक्टर रैली, दो लाख ट्रैक्टर लेंगे हिस्सा, दिल्ली पहुंच रहा किसानों का जत्था

चैतन्य भारत न्यूज

कृषि कानून के खिलाफ सड़कों पर बैठे किसानों को आखिरकार दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली करने की इजाजत दे दी है। इस ट्रैक्टर रैली का आयोजन मंगलवार को गणतंत्र दिवस समारोह के समापन के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच किया जाएगा। बता दें किसानों को सिंघु बॉर्डर पर 62 किलोमीटर, टिकरी बॉर्डर पर 63 किलोमीटर, और गाजीपुर बॉर्डर पर 46 किलोमीटर ट्रैक्टर परेड निकालने के लिए दिल्ली पुलिस ने हरी झंडी दी है। किसान यूनियनों ने दावा किया है कि दिल्ली में किसान परेड में करीब दो लाख ट्रैक्टर हिस्सा लेंगे।

ऐसा पहली बार होगा जब गणतंत्र दिवस पर पहली बार दिल्ली में किसान ट्रैक्टर परेड निकालेंगे, क्योंकि लंबी तनातनी के बाद दिल्ली पुलिस ने किसानों को परेड की अनुमति दे दी है। नए कृषि कानूनों के विरोध में निकाली जाने वाली इस रैली के लिए पूरे देश से किसान दल दिल्ली पहुंच रहे हैं।

ट्रैक्टर रैली में किसी भी तरह के हथियार यहां तक कि लाठी डंडे की भी इजाजत नहीं दी गई है। आक्रामक स्लोगन वाले बैनर भी बैन हैं। किसानों की रैली पर आसमान से नजर रखी जाएगी। ड्रोन का इस्तेमाल होगा। ट्रैक्टर परेड के लिए जोरदार तैयारी की गई है जिसके लिए किसानों का जत्था पंजाब से दिल्ली पहुंच रहा है।

किसान यूनियनों ने दावा किया है कि परेड शांतिपूर्ण रहेगी। राजनीतिक दल इससे दूर रहें। दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर दीपेंद्र पाठक ने बताया कि, गणतंत्र दिवस समारोह के समापन के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच रैली का आयोजन किया जाएगा। जैसा कि किसान 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली करना चाहते थे, हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि रैली गणतंत्र दिवस समारोह के समाप्त होने के बाद आयोजित की जाएगी। उन्हें तीन मार्गों पर कुल 170 किलोमीटर तक की दूरी तय करने की इजाजत दी गई है।

पाठक ने कहा, ‘संयुक्त किसान मोर्चा को सिंघु और टीकरी से करीब 64 किलोमीटर और गाजीपुर बॉर्डर से 46 किलोमीटर की परेड निकालने की सैद्धांतिक अनुमति दी गई है। पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे 308 सोशल मीडिया अकाउंट ट्रेस किए गए हैं, जिनका इरादा रैली में गड़बड़ी फैलाना है। ट्रैक्टर परेड गणतंत्र दिवस कार्यक्रम खत्म होने के बाद शुरू होगी।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय त्योहार है। प्रदर्शन के लिए 365 दिन हैं, ताकत किसी भी दिन दिखा सकते हैं, 26 जनवरी इसके लिए उपयुक्त नहीं।

Related posts