क्या गर्मी में कोरोना का खतरा कम हो जाएगा या नॉनवेज खाने से यह वायरस फैलेगा? यहां देखें कोरोना से संबंधित सभी सवालों के जवाब

corona virus

चैतन्य भारत न्यूज

भारत में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। देश में अब तक कोरोना वायरस की चपेट में करीब 300 लोग आ गए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को देशभर में ‘जनता कर्फ्यू’ की अपील की है। कोरोना वायरस को लेकर लोगों के मन में कई सारे सवाल हैं। दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दैनिक भास्कर समूह से बातचीत के दौरान कोरोना वायरस से संबंधित कई सवालों के जवाब दिए हैं। आइए जानते हैं-



  • ज्यादातर लोगों का यही सवाल है कि क्या जनता कर्फ्यू से कोरोना वायरस का संक्रमण रुकेगा? इसका जवाब देते हुए डॉ. गुलेरिया ने कहा कि यह उस दिशा में एक कदम है कि हमें कैसे घर पर रहना है। अगर हम लोगों को कई दिन तक घर पर रहने के लिए कहे तो वे इसके लिए भी तैयार रहें। खुले वातावरण, सतह पर लगे वायरस के संक्रमण पर भी कुछ हद तक काबू पाया जा सकेगा।
  • क्या वायरस गर्मी आने पर खत्म हो जाएगा? इसके जवाब में डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कम तापमान के दौरान वायरस वातावरण में अधिक देर तक जीवित रहता है। गर्मी आने से वायरस कम समय तक जीवित रहेगा। इससे संक्रमण फैलने का खतरा भी कम हो जाएगा।
  • क्या कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए 1 दिन का बंद पर्याप्त है? इसके जवाब में उन्होंने कहा- नहीं सतह से भले वायरस खत्म हो जाए लेकिन यदि संक्रमित व्यक्ति एक दिन के बंद के बाद बाहर आता है तो वह कई लोगों को भी संक्रमित कर सकता है। इसलिए बेहतर यही होगा कि पूरे ठीक होने तक संक्रमित व्यक्ति घर में ही रहे।
  • वायरस से बेहतर बचाव का तरीका बताते हुए डॉ. गुलेरिया ने कहा, सोशल दूरी और बार-बार हाथ धोना इसका सबसे अच्छा विकल्प है। किसी के फासले पर ड्रॉपलेट इंफेक्शन होता है तो 1 से 2 मीटर दूरी तक जाता है। संक्रमित व्यक्ति मुंह पर हाथ लगाता है तो वह उसके हाथ से किसी सतह, जगह को संक्रमित करता है। जब अन्य व्यक्ति संक्रमित वाले से हाथ मिलाता है या फिर संक्रमित सतह छूकर मुंह, नाक छूता है तो वह उसमें भी आ जाता है।
  • डॉ. गुलेरिया ने बताया कि मोबाइल, फोन, रिमोट, स्विच, दरवाजे के हैंडल की सतह पर भी वायरस लग सकते हैं। ऐसे सामान की सतह पर वायरस जिंदा रहता है इसलिए इसे भी साफ करना बेहद जरूरी है।
  • कोरोना वायरस नॉनवेज खाने से नहीं फैलता है। लेकिन डॉ. गुलेरिया का कहना है कि जो भी नॉनवेज खा रहें है वह पहले उसे पूरी तरह से पका लें और फिर ही खाएं।
  • डॉ. गुलेरिया ने बताया कि कोरोनावायरस फिलहाल भारत में दूसरी स्टेज पर है और हमें इसे कम्यूनिट संक्रमण वाली तीसरे स्टेज में जाने से रोकना है।

ये भी पढ़े…

Coronavirus: सरकार ने बताया कोरोना वायरस से कैसे बचें? जानें क्या करें और क्या ना करें 

आम सर्दी-जुकाम से कितने अलग होते हैं कोरोना वायरस के लक्षण? जानिए कैसे पता करें अंतर

कोरोना से बचने के लिए घर पर ही बना सकते हैं सैनेटाइजर जेल, इस विधि से करें तैयार

Related posts