हरिद्वार कुंभ 2021: इस बार कम दिनों के लिए आयोजित होगा कुंभ मेला, ये हैं शाही स्नान की तारीखें

चैतन्य भारत न्यूज

अप्रैल माह से हरिद्वार में कुंभ मेले का आयोजन शुरू होगा। कुंभ की अधिसूचना जारी हो गई है। कुंभ मेले का आयोजन 1 से 30 अप्रैल तक होगा। कुंभ मेले का क्षेत्र भी निर्धारित कर दिया गया है। बुधवार को प्रभारी सचिव (शहरी विकास) विनोद कुमार सुमन ने अधिसूचना जारी की।

अधिसूचना जारी होने के साथ ही शासन-प्रशासन पर कुंभ मेले में कोविड 19 महामारी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की जारी मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) को अक्षरश: लागू करने का दबाव बन गया है।

इस शर्त पर मेले में प्रवेश की इजाजत

कुंभ के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का श्रद्धालुओं को सख्ती से पालन करना पड़ेगा। एसओपी के अनुसार, श्रद्धालुओं को कुंभ मेले में तभी शामिल होने की अनुमति होगी जब वे कोरोना वायरस की निगेटिव रिपोर्ट पेश करेंगे।

पहली बार इतने कम समय के लिए हो रहा आयोजित

यह पहली बार है जब कुंभ मेला इतने कम समय के लिए आयोजित हो रहा है। इससे पहले कुंभ मेला चार महीने से ज्यादा समय तक चलता था। तीन शाही स्नान 1 अप्रैल से 28 अप्रैल के बीच होंगे। पहला शाही स्नान 12 अप्रैल (सोमवती अमावस्या), दूसरा 14 अप्रैल (बैसाखी) और तीसरा 27 अप्रैल (पूर्णिमा) को होगा।

हरिद्वार कुंभ में जाने के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट जरूरी, HC ने की CM तीरथ के फैसले की निंदा

हरिद्वार कुंभ 2021: अधिकारियों और कर्मचारियों को हर स्नान के बाद कोरोना टेस्ट करवाना जरूरी

हरिद्वार महाकुंभ में प्रवेश करने से पहले जान लीजिए दिशा-निर्देश, कोरोना निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य

Related posts