महाकुंभ 2021: शाही स्नान में उमड़ी भीड़, कई साधु कोरोना पॉजिटिव पाए गए, किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर का भी स्वास्थ्य बिगड़ा

चैतन्य भारत न्यूज

देशभर में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित हो रहे महाकुंभ में आज दूसरा शाही स्नान हो रहा है। महाकुंभ में कोरोना का बड़ा बम फूटा है। इस शाही स्नान के दौरान कोरोना नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं। जानकारी के मुताबिक, कई साधु कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। बावजूद इसके कोरोना नियमों का पालन कराने में उत्तराखंड पुलिस अक्षम दिखाई दे रही है।

रविवार को उत्तराखंड में इस साल के सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। जानकारी के मुताबिक, रविवार को 401 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सहित जूना अखाड़े के करमा गिरी और जूना अखाड़े के नितिन गिरी भी शामिल हैं।

शाही स्नान के बाद किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी का स्वास्थ्य बिगड़ गया। आचार्य महामंडलेश्वर गंगा सभा के कार्यालय के बाहर बेहोश हो गईं। मेला प्रशासन और पुलिस ने लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी एम्बुलेंस को से अस्पताल भेजा।

डीएम मेला दीपक रावत ने कहा कि, ‘सभी व्यवस्थाएं की गई है, 50 हजार लोगों का टेस्ट किया जा रहा है, कई साधु पॉजिटिव पाए गए हैं, आगे भी लोगों का टेस्ट किया जा रहा है, यह चुनौतीपूर्ण है लेकिन हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि लोग प्रोटोकॉल का पालन करें।’

भीड़ होने की वजह से कई जगहों पर कोरोना प्रोटोकॉल के नियम भी टूटते नजर आए। न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो रहा है और न ही कोई मास्क लगाए नजर आ रहा है। कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल का कहना है कि शाही स्नान में सबसे पहले अखाड़ों को अनुमति दी गई, उसके बाद 7 बजे से आम लोगों को शाही स्नान करने की इजाजत है।

Related posts