पिता के निधन के बावजूद देश के लिए खेली हॉकी, जज्बे को सलाम करने पहुंची मिजोरम सरकार

lalremsiami,lalremsiami hockey team,finals hockey tournament,mizoram hockey player lalremsiami

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय हॉकी टीम की 19 साल की खिलाड़ी लालरेमसियामी ने यह साबित कर दिया कि, खेल का जज्बा कई बार निजी अनुभवों से ज्यादा बड़ा नजर आता है। मिजोरम की इस खिलाड़ी ने हिरोशिमा में एफआईएच वूमेन सीरीज फाइनल को खेलने का निर्णय ऐसे समय लिया जब उनके पिता का निधन हो गया। लालरेमसियामी अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाईं।

lalremsiami,lalremsiami hockey team,finals hockey tournament,mizoram hockey player lalremsiami

बता दें लालरेमसियामी के पिता का निधन शुक्रवार यानी 21 जून को हुआ था और ऐसे में उन्होंने अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल न होकर गेम खेलने का फैसला किया जो कि आज एक मिसाल बन गया है। लालरेमसियामी के पिता की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई थी। उन्होंने इस दुख की घड़ी में टीम के साथ रहने का फैसला किया और रविवार को फाइनल मुकाबला खेला।


इसके बाद लालरेमसियामी एफआईएच सीरीज में जापान को हरा कर मंगलवार को अपने गांव पहुंची। इस दौरान वहां का माहौल बहुत गमगीन था वहीं लालरेमसियामी खुद को रोक न सकीं और अपनी मां के गले लगकर रो पड़ीं। बता दें, एफआईएच वूमेन सीरीज में भारत ने पहले चिली को 4-2 से हराया। इसके बाद फाइनल्स में जापान को 3-1 से हराया।


लालरेमसियामी के हौसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि, ‘असाधारण खेल, शानदार परिणाम’। इसके अलावा केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भी ट्वीट के जरिए लालरेमसियामी के मैच खेलने के फैसले की सराहना की। लालरेमसियामी मिजोरम में कोलासिब जिले में रहती हैं उन्होंने जापान से लौटने के बाद अपने दिवंगत पिता को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान मिजोरम सरकार के अधिकारी और उनके पूरे गांव के लोग मौजूद थे.

ये भी पढ़े

VIDEO : हॉकी खेलने के दौरान मुंह के बल गिरे राष्ट्रपति पुतिन और फिर

हॉकी को छोड़ अब इस खेल में हाथ आजमाना चाहते हैं हरेंद्र सिंह

 

Related posts