लालू प्रसाद यादव को मिली जमानत, साढ़े तीन साल बाद जेल से आएंगे बाहर, कोर्ट ने रखी ये शर्त

lalu prasad yadav,chara ghotala

चैतन्य भारत न्यूज

रांची. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव के जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है। चारा घोटाला से जुड़े एक मामले में रांची हाईकोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई है। जस्टिस अपरेश सिंह की अदालत में शनिवार को हुई सुनवाई में उन्हें जमानत दे दी गई। लालू को एक लाख रुपए का मुचलका और 10 लाख रुपए जुर्माना देना होगा। बेल बॉन्ड भरने के बाद वे एक-दो दिन में जेल से बाहर आ जाएंगे।

कोर्ट ने रखी यह शर्त

रांची हाई कोर्ट ने लालू यादव को दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपए की निकासी के मामले में हाई कोर्ट से जमानत मिली है। हाईकोर्ट ने कहा है कि, ‘जमानत के दौरान लालू देश से बाहर नहीं जाएंगे। देश से बाहर जाने से पहले उन्हें कोर्ट से इजाजत लेनी होगी। इसके साथ ही अपना मोबाइल नंबर और अपना पता नहीं बदलेंगे।’

आधी सजा पूरी करने के आधार पर मिली जमानत

बता दें लालू को ये जमानत दुमका ट्रेजरी मामले में आधी सजा पूरी होने के बाद दी गई है। इससे पहले लालू यादव को अक्टूबर 2020 में चाईबासा ट्रेजरी मामले में जमानत मिल गई थी, लेकिन दुमका ट्रेजरी केस की वजह से उनकी रिहाई नहीं हुई थी। फिलहाल, राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा है। इस मामले में सीबीआई की अदालत ने लालू प्रसाद को 7-7 साल की सजा दो अलग अलग धाराओं में सुनाई थी। पूर्व मुख्यमंत्री लालू ने दावा किया था कि वह आधी सजा पूरी कर चुके हैं। वहीं सीबीआई का दावा था कि लालू प्रसाद की आधी सजा अभी पूरी नहीं हुई है।

Related posts