लार्सन एण्ड टुब्रो कंपनी करेगी अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण, बिना कॉन्ट्रैक्ट लिए सेवाभाव से करेगी काम

ram mandir nirman

चैतन्य भारत न्यूज

अयोध्या. राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद से ही भव्य मंदिर निर्माण की तैयारियां चल रही हैं। मंदिर निर्माण के लिए कई कंपनियों के नाम सामने आए लेकिन लार्सन एंड टुब्रो कंपनी (Larsen & Toubro) को यह जिम्मेदारी मिल गई।


कंपनी नहीं लेगी कॉन्ट्रैक्ट

कंपनी के डिजाइन एवं निर्माण के प्रमुख वीरप्पन ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से फोन पर बातचीत की है। कंपनी ने अपनी ओर से प्रस्ताव दिया है कि वह रामजन्मभूमि पर प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण के लिए पूरा सहयोग करने की इच्छा रखती है। इसके लिए कंपनी कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं लेगी बल्कि वो सेवाभाव से कार्य करना चाहती है।

कंपनी ने दी औपचारिक तौर पर स्वीकृति

बता दें मंदिर निर्माण के लिए कई कंपनियों के नाम सामने आए थे लेकिन उस समय सुप्रीम कोर्ट, सरकार और ट्रस्ट के बीच मामला फंसा हुआ था इसलिए अंतिम तौर पर नाम फाइनल नहीं हो सका था। अब खुद कंपनी ने ही इसकी औपचारिक तौर पर स्वीकृति दे दी है।

90 के दशक में कंपनी ने किया था वादा 

बता दें कि 90 के दशक में राम मंदिर आंदोलन के दौरान विश्व हिन्दू परिषद के तत्कालीन सुप्रीमो अशोक सिंहल ने लार्सन एंड टूब्रो कंपनी के प्रबंधन से मुलाकात की थी। उस समय उन्होंने कंपनी से श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए सहयोग मांगा था। ट्रस्ट महासचिव के मुताबिक, अब कंपनी प्रबंधन अपने उसी वादे को पूरा करना चाहती है।

रामलला का स्थान परिवर्तन जल्द

जानकारी के मुताबिक, मंदिर विकास और प्रबंधन समिति के अध्यक्ष नपेन्द्र मिश्रा 29 फरवरी यानी शनिवार को अयोध्या जाएंगे और वहां भगवान के दर्शन करने के बाद शाम को बैठक होगी। इस बैठक में मंदिर निर्माण और अन्य पहलुओं पर चर्चा होने की संभावना है।

रामलला का स्थान परिवर्तन जल्द

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने नवरात्रि से पहले रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला का स्थान परिवर्तन करने का मन बना लिया है। हालांकि, अब तक उनके स्थान परिवर्तन की तारीख तय नहीं हुई है। भगवान के स्थानांतरित करने में उनकी सुरक्षा और दर्शनार्थियों की सुविधा का खास तौर से ख्याल रखा जाएगा। बता दें फिलहाल रामलला के दर्शन 50 फीट दूर से होते हैं लेकिन अब इस दूरी को कुछ कम करने पर विचार किया जा रहा है। साथ ही भगवान की परिक्रमा भी हो सके इस पर भी विचार किया जा रहा है। इसके अलावा एसबीआई बैंक में भी ट्रस्ट का खाता खुलने की भी प्रक्रिया चल रही है।

ये भी पढ़े…

29 फरवरी को राममंदिर ट्रस्ट की बैठक, हो सकता है राम मंदिर निर्माण शुरू होने की तारीख का ऐलान

राम मंदिर: ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा- मंदिर निर्माण के लिए सरकार से नहीं लेंगे कोई दान

महंत नृत्य गोपाल दास बने राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष तो चंपत राय महासचिव, मंदिर निर्माण के लिए मिला लाखों का दान

Related posts