मेनका-अरुंधति ने लड़ी थी LGBT समुदाय की लड़ाई, अब बताया कि वे खुद भी हैं लेस्बियन कपल

lawyers menaka guruswamy and arundhati katju

चैतन्य भारत न्यूज

सुप्रीम कोर्ट में भारतीय दंड संहिता की धारा 377 (LGBT) के खिलाफ वकील के रुप में बहस करने वाली मेनका गुरुस्वामी और अरुंधति काटजू का कहना है कि, यह न केवल उनकी पेशवर जीत थी बल्कि एक कपल के रूप में भी बड़ी सफलता थी।

lawyers menaka guruswamy and arundhati katju

दरअसल सुप्रीम कोर्ट में मिली ऐतिहासिक जीत के लगभग एक साल बाद मेनका और अरुंधति ने इस बात का खुलासा किया कि, वह खुद भी लेस्बियन कपल हैं। हाल ही में हुए एक इंटरव्यू में दोनों ने धारा 377 के खिलाफ अपनी जीत के बारे में बताया साथ ही अपने रिश्‍ते को भी सार्वजनिक किया। बता दें मेनका और अरुंधति दोनों ही सफल वकील हैं।

जानकारी के मुताबिक, मेनका ने हावर्ड स्‍कूल से एलएलएम और ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी से डी.फिल किया है। वह बर्लिन के इंस्‍टीट्यूट ऑफ एडवांस्‍ड स्‍टडीज की छात्रा रह चुकी हैं। इतना ही नहीं बल्कि वह कोलंबिया लॉ स्‍कूल, येल लॉ स्‍कूल, न्‍यूयॉर्क यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ जैसे विश्‍वप्रसिद्ध शिक्षण संस्‍थानों की विजिटिंग फैकल्‍टी भी हैं। जबकि अरुंधति ने कोलंबिया यूनिवर्सिटी से एलएलएम की डिग्री हासिल की है। अरुंधति और मेनका का नाम पिछले दिनों दुनिया के टॉप 100 प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में भी आया था।

बता दें अरुंधति ने #SareeTwitter ट्रेंड को फॉलो करते हुए अपनी पार्टनर मेनका के साथ एक तस्वीर भी शेयर की थी। इस तस्वीर के अलावा इन दिनों दोनों का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है और लोग इस कपल को शुभकामनाएं भी दे रहे हैं। गौरतलब है कि, पिछले साल 6 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने आईपीसी की धारा 377 के उस प्रावधान को रद्द कर दिया, जिसके तहत आपसी सहमति से बनाए गए समलैंगिक संबंध अपराध की श्रेणी में आते थे।

 

Related posts