कंगना को किसानों के खिलाफ ट्वीट करना पड़ा भारी, मिला कानूनी नोटिस

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. अभिनेत्री कंगना रनौत को नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को लेकर ट्वीट करना भारी पड़ गया। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के एक सदस्य ने कंगना को एक कानूनी नोटिस भेजा है। कमेटी के सदस्य जस्मैन सिंह नोनी की तरफ से वकील हरप्रीत सिंह होरा ने यह नोटिस भेजा है।

जानकारी के मुताबिक, ‘नोटिस में कहा गया है कि जब मुंबई में रनौत के परिसर के एक हिस्से को ढहाया गया तो उन्होंने अपने प्रशंसकों को एकजुट करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया और कहा कि निगम की कार्रवाई उनके मौलिक अधिकारों पर हमला है। इसी तरह संविधान के तहत किसानों को भी शांतिपूर्ण प्रदर्शन भी अधिकार है और वह किसानों का अपमान नहीं कर सकती हैं।’

नोटिस के मुताबिक, कंगना ने एक ट्वीट साझा कर आरोप लगाया कि ‘शाहीन बाग की दादी’ भी नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के आंदोलन से जुड़ गयी हैं। नोटिस में कहा गया कि अभिनेत्री ने अपने उसी ट्वीट में कहा कि ‘टाइम’ पत्रिका में जगह बना चुकी वही दादी ‘100 रुपए में उपलब्ध’ है।

कानूनी नोटिस में कहा गया, ‘कई खबरों में दावा किया गया कि दोनों महिलाएं अलग-अलग हैं । और अगर नहीं भी हैं तो उन्हें अपनी राजनीति चमकाने के लिए किसी बुजुर्ग महिला को अपमानित करने का अधिकार नहीं है। यह साफ तौर पर नफरत फैलाने वाला ट्वीट है और जल्द से जल्द इस पर कदम उठाए जाने की जरूरत है।’

Related posts