इस बार देर से आएंगे लोकसभा चुनाव के नतीजे, ये है वजह

चैतन्य भारत न्यूज

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पांच चरण के मतदान पूरे हो चुके हैं। अब छठे और सातवें चरण के मतदान के पूरे होते ही देश को नई सरकार मिल जाएगी। इस बार किसकी सरकार बनेगी ये जानने का इंतजार पूरे देश को है। सभी का यह इंतजार 23 मई को खत्म हो जाएगा क्योंकि इस दिन लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे घोषित होंगे। हाल ही में यह खबर मिली है कि मतगणना के दिन भी नतीजे आने में देर हो सकती है।

चुनाव आयोग ने कहा कि, ’23 मई को चुनावी परिणाम घोषित होने में थोड़ा ज्यादा वक्त लग सकता है। इसकी वजह ये है कि ईवीएम के वोटों से वीवीपैट का मिलान किया जाना है, जिसमें थोड़ा ज्यादा वक्त लगेगा।’ चुनाव आयोग के मुताबिक, इस बार नतीजे आने में चार से पांच घंटे देर हो सकती है। दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 में ईवीएम मशीन के साथ ही वीवीपैट मशीनों का भी इस्तेमाल किया गया है। इसके जरिए वोट डालने पर एक पर्ची निकलेगी। इसलिए जब वोटों की गिनती होगी तो उसके साथ पर्चियों का मिलान भी किया जाएगा।

बता दें ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत आने के बाद चुनाव आयोग ने ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन लगाने का फैसला किया था। पहले हर सीट पर एक ईवीएम मशीन के साथ एक वीवीपैट लगाई जाती थी। लेकिन फिर विपक्ष ने इसे बढ़वाकर हर विधानसभा में पांच करवा दिया है। हालांकि, अब भी विपक्षी दल द्वारा वीवीपैट बढ़ाने की मांग की जा रही है। विपक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई थी कई ईवीएम के साथ पचास फीसदी वीवीपैट लगाई जाएं। लेकिन कोर्ट ने 7 मई को विपक्ष की इस मांग को ठुकरा दिया। इसके बाद उन्होंने चुनाव आयोग की ओर रुख किया। खैर अब देखना तो यह होगा कि विपक्ष की इस मांग पर चुनाव आयोग का क्या जवाब आता है।

Related posts