‘एनाकोंडा’ के बाद पटरी पर दौड़ा 2.8 किमी ‘शेषनाग’, रेलवे ने बनाया नया रिकॉर्ड

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय रेलवे ने पहली बार एक मालगाड़ी चलाई है जो एनाकोंडा की तरह है। 2.8 किलोमीटर लंबी इस गाड़ी ने गुरुवार को इतिहास रच दिया। भारतीय रेल के इतिहास में यह अब तक की सबसे लंबी मालगाड़ी है जिसे ‘शेषनाग’ नाम दिया गया।

251 डब्बे लगाए गए

शेषनाग में चार रैक के कुल 251 खाली डिब्बे और उन्हें खींचने के लिए चार इंजन लगाए गए। यह नागपुर से सिकंदराबाद के बीच चली। शेषनाग ने करीब 260 किलोमीटर की दूरी 6 घंटे में पूरी की।

indian railway

रेल मंत्री ने शेयर किया वीडियो

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करके भारतीय रेल की कामयाबी को साझा किया है। उन्होंने लिखा, ‘रेलवे द्वारा देश में रेकार्ड 2.8 किमी लंबी मालगाड़ी का सफलतापूर्वक परिचालन किया गया। 4 ट्रेनों को जोड़कर शेषनाग नाम से मालगाड़ी चलाने का यह प्रयोग सफल रहा। इससे एक बार में अधिक सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजा जा सकता है।’

शेषनाग ने एनाकोंडा को पछाड़ा

सबसे लंबी मालगाड़ी शेषनाग ने लंबाई के मामले में एनाकोंडा को पछाड़ दिया है। बता दें दो दिन पहले ही 30 जून को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने तीन मालगाड़ियों को जोड़कर पहली बार दो किलोमीटर लंबी मालगाड़ी चलाने का रिकॉर्ड बनाया था। इस ट्रेन को अनाकोंडा (Anaconda) नाम दिया गया था। एनाकोंडा तीन लोडेड मालगाड़ियों को जोड़कर बनाई गई थी। यह ट्रेन ओडिशा के लाजकुरा और राउरकेला के बीच चलाई गई थी। अनाकोंडा ट्रेन की खास बात ये थी कि इसके डब्बे माल से भरे हुए थे। इस ट्रेन का कुल वजन 15000 टन से ज्यादा था।

Related posts