लखनऊ : भाजपा सांसद के परिवार में हाईवोल्टेज ड्रामा, बहू ने काटी हाथ की नस, वीडियो शेयर कर दी खुदकुशी की धमकी

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. मोहनलालगंज से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद कौशल किशोर के परिवार का हाईवोल्टेज ड्रामा जारी है। इस फैमिली ड्रामा ने रविवार को तब खतरनाक मोड़ ले लिया जब कौशल किशोर की बहू अंकिता सिंह ने उनके ही घर के सामने अपने हाथ की नस काट ली। फिर आनन-फानन में पुलिस ने अंकिता को सिविल अस्पताल में एडमिट कराया, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

आत्महत्या के प्रयास से पहले सांसद की बहू का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें उसने कहा था कि, ‘मैं जान देने जा रही हूं।’ अंकिता ने आगे कहा, ‘मैं किसी से नहीं लड़ सकती क्योंकि तुम्हारे पापा सांसद और मां विधायक हैं, मेरी कोई नहीं सुनेगा, मैं आज तक किसी को तुम्हें हाथ नहीं लगाने दिया, तो मैं तुम्हें कैसे मार सकती हूं, तुम कितना झूठ बोल रहे हो, तुमने और तुम्हारे घर वालों ने मुझे जीने के लिए नहीं छोड़ा।’

अंकिता ने आगे कहा, ‘घर का रेंट नहीं दिया, गैस सिलेंडर नहीं भरवाया, एक बार भी नहीं सोचा कि मैं क्या खाऊंगी, अगर तुम मेरे पास नहीं आओगे तो मुझे रहना भी नहीं है, मैं जा रही हूं, मैं जा रही हूं और तुम मुझे याद रखोगे और सोचोगे कि मुझसे ज्यादा चाहने वाला तुम्हें कोई और नहीं मिलेगा। मेरी मरने की वजह तुम हो और तुम्हारे घर वाले हैं, मैं जा रही हूं।’

वायरल वीडियो में अंकिता रोते हुए नजर आ रही हैं। साथ ही पुलिस और आयुष के घरवालों पर गंभीर आरोप लगा रही हैं। वीडियो में अंकिता ने कहा, ‘वह कब से इंतजार कर रही थीं कि आयुष उनके पास आएगा। रविवार को आयुष महिला थाने पहुंचा था। आयुष से मिलने के लिए मैं थाने भी गई थी, लेकिन पुलिस वालों ने यह कहकर मना कर दिया कि वह नहीं आया है। हर कोई मिला हुआ है। आयुष थाने में ही था, लेकिन नहीं मिला।’

अंकिता वीडियो में आगे कहती नजर आ रही हैं, ‘तुम (आयुष) खुद कहते थे कि घरवाले मुझे प्यार नहीं करते। मैं हर कदम पर तुम्हारे साथ रही, लेकिन तुमने मेरा सबकुछ छीन लिया… तुम्हारा तो कुछ नहीं गया। तुम अपने घरवालों के पास चले गए। मेरे बारे में नहीं सोचा। किराया नहीं जमा है। गैस सिलेंडर भी नहीं है। मैंने खाया भी है या नहीं, तुमने पूछा नहीं। अब मैं जा रही हूं… बहुत दूर। तुम याद रखोगे। मुझसे गलती हो गई, जो तुम्हारे साथ थी।’

वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करने के बाद अंकिता सांसद कौशल किशोर के दुबग्गा स्थित घर पर स्कूटी से पहुंची और हाथ की नस काट ली। हालांकि वीडियो के बाद उसे ट्रैक कर रही पुलिस ने आनन-फानन में उसको अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

सांसद बोले- मेरे परिवार को बदनाम करने की साजिश

इस मामले में बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने कहा कि, ‘उसे आप मेरी बहू मत कहिए, उसने और आयुष ने शादी की और मैं कभी इसके पक्ष में नहीं था, अंकिता मुझे और मेरे परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है, अंकिता के पीछे कोई है जो उसे उकसा रहा है, वह नाटक कर रही है, उसने मेरे घर से दूर आत्महत्या का प्रयास किया है।’

क्या है मामला

मड़ियांव कोतवाली क्षेत्र में 2 मार्च की रात 2:10 बजे भाजपा सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष पर फायरिंग हुई थी। बाद में इस मामले में आयुष के साले आदर्श को पुलिस ने साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया था। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर का दावा था कि, आयुष ने कुछ लोगों को फंसाने के लिए साले से खुद पर गोली चलवाई थी। आदर्श को पुलिस ने जेल भेज दिया था। आयुष रविवार को हजरतगंज पुलिस के सामने पेश हुआ था।

आयुष की गिरफ्तारी पर तीन दिन पहले हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने रोक लगा दी थी। दरअसल, आयुष के खिलाफ 120 बी, 420, 505 आईपीसी के तहत केस दर्ज हुआ है। इन सभी धाराओं में सजा का प्रावधान 7 साल से अधिक नही है। ऐसे में सीआरपीसी में प्रावधान है कि ऐसे मामले में आरोपी को राहत दी जाती है और उसकी गिरफ्तारी से पहले नोटिस जारी किया जाता है। यदि आरोपी के फरार होने की आशंका है तो मजिस्ट्रेट को बताकर गिरफ्तारी की जाएगी।

Related posts