MP: सीएम शिवराज का ऐलान- अब सिर्फ MP के लोगों को ही मिलेंगी राज्य में सरकारी नौकरियां

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। राज्य में अब सरकारी नौकरियां सिर्फ मध्य प्रदेश के मूल निवासियों के लिए ही आरक्षित रहेंगी। जी हां… यानी प्रदेशवासियों को राज्य में मिलने वाली सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता मिल सकती है या फिर राज्य की सरकारी नौकरियों पर केवल प्रदेश के युवाओं का ही अधिकार होगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके संकेत दिए।

कई बार उठी स्थानीय लोगों की सरकारी नौकरी देने की मांग

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘मेरे प्रिय प्रदेशवासियों, आज मध्य प्रदेश की सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है। अपने भांजे-भांजियों के हित को ध्यान में रखते हुए हमने निर्णय लिया है कि मध्यप्रदेश में शासकीय नौकरियाँ अब सिर्फ मध्यप्रदेश के बच्चों को ही दी जाएंगी। इसके लिए आवश्यक कानूनी प्रावधान किया जा रहा है। प्रदेश के संसाधनों पर प्रदेश के बच्चों का अधिकार है।’ बता दें राज्य में स्थानीय लोगों को ही सरकारी नौकरी के लिए मौका देने की मांग समय-समय पर उठती रही है। कई चुनावों में इसको मुद्दाय भी बनाया गया है। हालांकि कानूनी प्रक्रिया कब तक पूरी होगी, इसपर कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

उपचुनाव से पहले बड़ा ऐलान

मध्य प्रदेश कांग्रेस में मतभेद के बाद फिर से सत्ता में आई शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बीजेपी उपचुनावों में जीत के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। इसके तहत ही चुनावों से पहले बड़ा ऐलान किया गया है। मध्य प्रदेश में सरकारी नौकरियों में स्थानीय मूल निवासी प्रमाण पत्र वालों को ही सिर्फ मौका देने को चुनावों से ही जोड़कर देखा जा रहा है। इस फैसले से बीजेपी सरकार प्रदेश के युवाओं के साथ ही स्थानीय लोगों को भी साधने की कोशिश कर रही है।

Related posts