सीएम शिवराज का बड़ा ऐलान, MP में पटाखों पर नहीं लगेगा बैन, कहा- हम खुशियों पर नहीं लगाते प्रतिबंध, आप धूम-धाम से दिवाली मनाएं

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना महामारी के बीच वायु प्रदूषण को बढ़ता देख कई राज्यों ने पटाखों पर बैन लगा दिया है। एनजीटी के आदेश पर दिल्ली-एनसीआर में 30 नवंबर तक पटाखों पर बैन के बाद से मध्य प्रदेश के कई बड़े शहरों में दीवाली के उत्साह पर शंका के बादल मंडराने लगे थे। लेकिन सोमवार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक ट्वीट कर पटाखों के शौकीनों को राहत दे दी है। सीएम ने ऐलान किया है कि राज्य में पटाखों पर बैन नहीं लगाया जाएगा। हालांकि, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि चीन में बने या देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखे फोड़ने की अनुमति नहीं होगी।


दरअसल, एक सोशल मीडिया यूजर के सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया कि, ‘मध्यप्रदेश खुशियों का प्रदेश है। यहां पर हम खुशियों पर कभी भी किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाते। प्रदेश में पटाखों पर कोई प्रतिबंध नहीं है। हां, लेकिन चीनी पटाखों पर प्रतिबंध जरूर है। आप भगवान राम के अयोध्या लौटने की खुशी मनाएं, पटाखे जलाएं और धूम-धाम से दिवाली मनाएं।’


इसके अलावा शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट में ही जानकारी दी कि, ‘देवी-देवताओं के चित्र वाले पटाखे ना जलाएं।’ सीएम ने अपने ट्वीट में जाना से अपील की है कि, ‘पटाखे जलाते वक्त इस बात का जरूर ध्यान रखिएगा कि किसी भी देवी-देवता के तस्वीर वाले पटाखे न बेचें और न खरीदें। उस पर पूर्णत प्रतिबंध है।’ इसके अलावा शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, ‘दिवाली के मौके पर छोटे-छोटे व्यापारी भाइयों को आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए मिट्टी से बने दीपक खरीदें, जितने भी स्थानीय उत्पाद हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जाए।’

दरअसल, धूम-धड़ाके से दीवाली मनाने के शौकीनों की तैयारियों में एनजीटी के आदेश के बाद ब्रेक सा लग गया था। एनजीटी ने अपने आदेश में दीवाली पर वायु प्रदूषण रोकने और कोविड 19 के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 30 नवंबर तक पटाखे जलाने पर प्रतिबंध लगाया है। एनजीटी ने जिन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह फैसला दिया, उसमें से एक जबलपुर से भी लगाई गई थी। इसलिए, फैसले के बाद से यह आशंका जताई जा रही थी कि एमपी में भी पटाखों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

Related posts