मध्यप्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का निधन, पीएम मोदी समेत कई दिग्गजों ने जताया दुख

kailash joshi

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का 91 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। जोशी ने भोपाल के एक निजी अस्पताल में सुबह करीब 11:25 मिनट पर अंतिम सांस ली। उनके परिवार ने निधन की पुष्टी की है। जानकारी के मुताबिक, वह काफी लंबे समय से बीमार थे। बता दें सितंबर में ही उनकी पत्नी तारा देवी का भी देहांत हुआ था।



कैलाश जोशी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया और दुख जताया। उन्होंने लिखा, ‘कैलाश जोशी जी एक ऐसे नेता थे जिन्होंने मध्य प्रदेश के विकास में एक मजबूत योगदान दिया। उन्होंने मध्य भारत में जनसंघ और भाजपा को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत की। उन्होंने एक प्रभावी विधायक के रूप में अपनी पहचान बनाई। उनके निधन से दुख हुआ। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।’


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि, ‘मृदभाषी, सरल, सहज व्यक्तित्व के धनी कैलाश जी का निधन राजनीति क्षेत्र की एक अपूरणीय क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं हैं। ईश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दे और परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।’


मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कैलाश जोशी के निधन पर ट्वीट कर शोक जताया और कहा कि, ‘मध्यप्रदेश की राजनीति को नई दिशा देने वाले, निर्धन और कमजोर की आवाज, विनम्र व मृदुभाषी राजनेता, पूर्व मुख्यमंत्री श्रद्धेय कैलाश जोशी के अवसान के साथ ही एक युग का अंत हो गया।’

प्रदेश में शोक की लहर

कैलाश जोशी के निधन से मध्य प्रदेश में शोक की लहर छा गई है। उनके निधन की खबर मिलने के बाद पार्टी के कई नेता अस्पताल पहुंच गए। उनके पार्थिव देह को भोपाल में प्रदेश भाजपा कार्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा।

पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री

बता दें कैलाश जोशी जन्म 14 जुलाई 1929 देवास जिले की हाटपिपल्या तहसील में हुआ था। वे 1951 में स्थापित जनसंघ से संस्थापक सदस्य भी रहे। इसके बाद उन्होंने 1954 से 1960 तक देवास जिले में जनसंघ के मंत्री के तौर पर काम किया। वे जनसंघ के समय संगठन को मध्य प्रदेश में मजबूत करने के लिए काम करते रहे। 1955 में कैलाश जोशी हाटपीपल्या नगरपालिका के अध्यक्ष चुने गए। 1962 से लगातार सात बार देवास जिले के बागली क्षेत्र से विधानसभा के सदस्य चुने गए। कैलाश जोशी मध्य प्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री थे। वह 26 जून 1977 से 17 जनवरी 1978 तक प्रदेश के मुख्यमंत्री पद पर रहे। हालांकि 1978 में अस्वस्थ के कारण उन्होंने मुख्यमंत्री पद त्याग दिया था।

Related posts