VIDEO: 5 माह की गर्भवती महिला के कंधे पर लड़के को बैठाकर 3 किमी तक निकाला जुलूस, रास्तेभर डंडे-पत्थर से मारते रहे लोग

चैतन्य भारत न्यूज

मध्य प्रदेश के गुना जिले से मानवता को शर्मसार कर देने वाला एक मामला सामने आया है। यहां एक महिला का पति उसे दूसरे युवक के पास छोड़ गया था। इस बात से नाराज महिला के ससुराल पक्ष वालों ने उसका जुलूस निकाला। 5 माह की गर्भवती महिला के कंधे पर एक बच्चे को बैठाकर 3 किलोमीटर तक ऊबड़-खाबड़ रास्ते पर नंगे पैर घुमाया गया। इतना ही नहीं बल्कि जब महिला रुक जाती तो उसे लाठी-डंडे से पीटा जाता और रास्तेभर उसे पत्थर भी मारे गए।

तीन लोगों को जमानत पर किया रिहा

पुलिस रिकॉर्ड में घटना 9 फरवरी की है, लेकिन सोमवार यानी 15 फरवरी को इसका वीडियो वायरल हुआ। इस मामले में चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने मामले में गंभीरता नहीं दिखाई। आरोपी ससुर, जेठ और देवर को केवल मारपीट का केस दर्ज कर थाने से ही जमानत पर रिहा कर दिया।

पति ने दूसरे पुरुष के पास छोड़ा

गर्भवती महिला गुना के बांसखेड़ी गांव की रहने वाली थी। पीड़िता ने बताया कि दो महीने पहले पति सीताराम मुझे सांगई गांव में डेमा (जिसके घर महिला रह रही थी) के घर छोड़कर इंदौर चला गया। पति ने जाते समय कहा था कि अब मैं तुम्हें नहीं रख सकता, तुम डेमा के साथ ही रहो। बाद में मेरे ससुर गुनजरिया वारेला, जेठ कुमार सिंह, केपी सिंह और रतन आए और घर चलने के लिए कहा। जब मैंने मना किया, तो मुझे पीटने लगे। मेरे कंधे पर गांव के एक लड़के को बैठा दिया और सांगई से बांसखेड़ी ससुराल तक तीन किलोमीटर तक नंगे पैर ले गए। मेरे पेट में पांच महीने का गर्भ है। फिर भी ससुर और जेठ मुझे घसीटते रहे। डंडे, पत्थर, क्रिकेट के बल्ले से पैरों में मारते रहे। इस दौरान पति ने फोन कर अपने परिवार वालों से मुझे छोड़ने के लिए भी कहा, लेकिन उसकी भी किसी ने नहीं सुनी।

वीडियो वायरल होने के बाद मामला दर्ज किया

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा गाली देना, धक्का देना, चांटा मारना, जान से मारने की धमकी के आरोप में केस दर्ज किया है। इनमें तीन महीने से लेकर दो साल तक की सजा हो सकती है।

Related posts