मप्र उपचुनाव के नतीजे: शुरुआती रुझान में 13 सीटों पर भाजपा और 5 पर कांग्रेस आगे, तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत आगे

चैतन्य भारत न्यूज

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजों का ऐलान आज होगा। सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू हो गई। नतीजे तय करेंगे कि मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार बचेगी या कमलनाथ की सरकार आएगी। शुरुआती एक घंटे के रुझान में भाजपा आगे है। 18 सीटों पर आए रुझान में 13 पर भाजपा और 5 पर कांग्रेस आगे चल रही है।

रुझानों में भाजपा का कमल खिलता दिख रहा है। शिवराज सरकार के 8 मंत्री आगे चल रहे हैं। वहीं, सुमावली में मंत्री एंदल सिंह कंषाना कांग्रेस प्रत्याशी अजब सिंह कुशवाह से पीछे चल रहे हैं। राज्य में 3 नवंबर को मतदान हुआ था।

विधानसभा की कुल सीटें: 230

(दमोह से कांग्रेस विधायक राहुल लोधी के इस्तीफा देने के बाद एक सीट और रिक्त हो गई है)

अब कुल संख्या: 229
उपचुनाव: 28 सीटें
भाजपा: 107, (बहुमत के लिए 9 सीटें चाहिए)
कांग्रेस: 87 (बहुमत के लिए 28 सीटें चाहिए)

इस वजह से दोबारा हुए चुनाव

बता दें कि अभी मप्र की 29 विधानसभा सीटें खाली हैं, जिनमें से 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। मप्र में उपचुनाव की जरूरत कांग्रेस के 25 विधायकों के इस्तीफा देने और 3 विधायकों के निधन से हुई। कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले सभी 25 विधायक बीजेपी में आ गए हैं, इन सभी 25 लोगों को टिकट देकर बीजेपी ने चुनावी मैदान में उतारा है, इनमें से शिवराज सरकार के 14 मंत्री भी हैं।

इन सीटों पर हुआ मतदान

मप्र की जिन 28 सीटों पर उपचुनाव हुआ, उनमें से ग्वालियर-चंबल इलाके की 16 सीटें हैं। इनमें मुरैना, मेहगांव, ग्वालियर पूर्व, ग्वालियर, डबरा, बमोरी, अशोक नगर, अम्बाह, पोहारी,भांडेर, सुमावली, करेरा, मुंगावली, गोहद, दिमनी और जौरा सीट शामिल है। वहीं, मालवा-निमाड़ क्षेत्र की सुवासरा, मान्धाता, सांवेरस आगर, बदनावर, हाटपिपल्या और नेपानगर सीट है। इसके अलावा सांची, मलहरा, अनूपपुर, ब्यावरा और सुरखी सीट है। इसमें से जौरा, आगर और ब्यावरा सीट के 3 विधायकों के निधन के चलते उपचुनाव हो रहे हैं।

Related posts