रीवा: 10 घंटे ऑपरेशन करने के बाद फटी हुई नस और हड्डी जोड़कर मरीज की बचाई जान

operation,railway family pension

चैतन्य भारत न्यूज

मध्य प्रदेश के रीवा से हाल ही में एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों की टीम ने एक शख्स की फटी की नस का ऑपरेशन किया। करीब 10 घंटे तक यह ऑपरेशन चला जिसके बाद शख्स खतरे से बाहर आया।

30 वर्षीय मरीज जो की नईगढ़ी निवासी एचडीएफसी बैंक इंदौर में नौकरी करते हैं। शुक्रवार शाम को वह अपने निजी काम के लिए मिर्जापुर जा रहे थे। वहां हनुमना के पास उनका एक्सीडेंट हो गया और कंधे की खून की नस फट गई इसके साथ कंधे और हाथ की नस का संचार कम हो गया। मरीज का अत्यधिक रक्त घटना स्थल में ही बह गया था साथ में कंधे और हाथ की हड्डी भी कई टुकड़ों में फट गई थी। आनन-फानन में इनके परिजन रीवा हॉस्पिटल लेकर आए वहां डॉक्टर शुभम मिश्रा हड्डी रोग विशेषज्ञ और प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर सौरभ सक्सेना एनेस्थीसिया से डॉ अभय राज की टीम ने अर्जेंसी ऑपरेशन करने का फैसला लिया।

इस सर्जरी में 6 बैग खून और 10 घंटे समय लगा। जिसमें एक ही बार में खून की नस पैरों से निकालकर जिसको वैस्कुलर ग्राफ्ट बोलते हैं 5 सेंटीमीटर की नस पेट से निकालकर ऊपर कंधे में फटी हुई नस में जोड़ा गया। इसके साथ जो कंधे की करंट वाली नस जिसको ब्रेकियल प्लेक्सस बोलते हैं उसको भी सिला गया। साथ में डॉक्टर शुभम मिश्रा ने कंधे और कलाई का ऑपरेशन किया। इस दौरान टीम वर्क करके मरीज की जान बचाई गई और मरीज स्वस्थ है ।

 

Related posts