पत्नी के मोटापे से परेशान होकर पति ने मांगा तलाक, कहा- जहां जाता हूं, लोग मजाक उड़ाते हैं

चैतन्य भारत न्यूज

मोटापे ने आज के समय में हर दूसरे व्यक्ति को अपनी चपेट में ले रखा है। अब यही मोटापा एक पति-पत्नी के बीच तलाक का कारण बन गया है। मध्य प्रदेश के भोपाल के फैमिली कोर्ट में ऐसा मामला देखने को मिला। पति ने अपनी पत्नी के मोटापे से परेशान होकर उससे तलाक मांगा है। पति ने फैमिली कोर्ट में कहा कि, जब भी वो कहीं जाता है तो उसे अपनी मोटी पत्नी के कारण ताने सुनने को मिलते हैं और लोग उसका मजाक उड़ाते हैं।

शख्स ने फैमिली कोर्ट में काउंसलर सरिता राजानी को बताया कि, उसकी शादी 10 साल पहले हुई थी। शादी के समय पत्नी काफी दुबली-पतली थी। तब उसका वजन 56 किलो हुआ करता था। लेकिन बेटे के जन्म के बाद अचानक से ही उसका वजन बढ़ने लगा। पति ने कहा कि, पत्नी का लगातार बढ़ता वजन देख उसने पत्नी को आगाह भी किया लेकिन पत्नी ने उसकी बातों को अनसुना कर दिया। उसने अपनी पत्नी को जिम जाने को और डॉक्टर को भी दिखाने को कहा लेकिन पत्नी अपनी ही मस्ती में मग्न रही और उसने किसी भी बात पर ध्यान नहीं दिया। ऐसे में अब उसकी पत्नी का वजन बढ़कर 102 किलो हो गया।

सूत्रों के मुताबिक, शख्स पेशे से प्रोफेसर हैं। उसने कहा कि, अब तक वह अपनी पत्नी का वजन कम करने के लिए करीब पांच लाख रुपए से ज्यादा खर्च कर चुका है। पत्नी कुछ ही दिन उसका कहना मानती और फिर कोई न कोई बहाना बनाना शुरू कर देती। इसलिए वह पत्नी से किसी भी तरह तलाक लेना चाहता है। तलाक के बाद वह पत्नी को भरण पोषण के लिए 25 लाख रुपए तक देने को भी तैयार है। साथ ही वह अपने बच्चे के पालन पोषण के लिए भी रुपये देने को राजी है।

वहीं पत्नी ये मानने के लिए मंजूर ही नहीं है कि उसका पति मोटापे के चक्कर में उसे तलाक दे रहा है। पत्नी ने आरोप लगाया है कि उसके पति का कॉलेज की लड़कियों के साथ चक्कर है इसलिए वह उससे तलाक लेना चाहता है। पत्नी ने कहा कि, उसका पति हमेशा कॉलेज की लड़कियों के साथ फ्लर्ट करता ही रहता है। साथ ही पत्नी ने अपने पति पर ये शक जताया है कि, उसका किसी लड़की से अफेयर है। इस मामले पर काउंसलर का कहना है कि, मोटापा तलाक का कारण नहीं हो सकता है। फिलहाल ये मामला कोर्ट में ही चल रहा है।

 

 

Related posts