शहडोल में शिवराज सरकार के सभी दावे फेल, ऑक्सीजन की कमी से एक दिन में 12 मरीजों की मौत!

चैतन्य भारत न्यूज

शहडोल. सरकारी आंकड़ों में कोरोना से मौते कम बताते हैं। अस्पतालों में अब कोई दिक्कत नहीं बaताते हैं। ऑक्सीजन की कमी दूर कर ली गई है कहते हैं। हर दिन मीडिया के सामने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यह दावा करते हैं। फिर भी शहडोल के मेडिकल कॉलेज में 24 घंटे के अंदर ऑक्सीजन की कमी से 12 कोविड मरीजों की मौत हो गई।

रातभर तड़पते रहे मरीज

जानकारी के मुताबिक, ऑक्सीजन का प्रेशर शनिवार रात 12 बजे अचानक से कम हो गया। इसके बाद मरीज तड़पने लगे। परिजन मास्क दबा-दबाकर मरीजों को राहत देने की कोशिश करते रहे, लेकिन वे नाकाम रहे। इसके बाद सुबह 6 बजे तक भी स्थिति नहीं संभली और 12 मरीजों ने ही दम तोड़ दिया। इन 12 मौतों की पुष्टि शहडोल के अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा ने भी की है।

परिजन ने किया हंगामा

इसके बाद ICU में भर्ती इन मरीजों के परिजनों ने हंगामा कर दिया। मरीज के परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म होने की वजह से लोगों की मौत हुई है। वहीं, मेडिकल कॉलेज के डीन का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी नहीं हुई है बल्कि ऑक्सीजन का प्रेशर कम हो गया था। उन्होंने कहा कि आईसीयू में और भी मरीज भर्ती हैं यदि ऑक्सीजन की कमी होती तो और मौतें हो सकती थी लेकिन ऐसा नहीं है। बता दें इसके पहले भोपाल, सागर, जबलपुर, उज्जैन में ऑक्सीजन की कमी से संक्रमित गंभीर मरीजों की मौत हो चुकी है।

पिछले 24 घंटे में 11 हजार से ज्यादा संक्रमित

MP में शनिवार को 11,269 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 6,497 लोग रिकवर हुए और 66 की मौत हो गई। अब तक यहां 3।95 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3।27 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। 4,491 मरीजों की जान चली गई। 63,889 मरीजों का इलाज चल रहा है।

Related posts