माघ मेला 2021: बसंत पंचमी पर स्नान करने पहुंचेंगे लाखों श्रद्धालु, संगम में सुरक्षा बढ़ी, 5 हजार जवान तैनात

चैतन्य भारत न्यूज

‘बसंत पंचमी’ के अवसर पर दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक माघ मेला में चौथा स्नान पर्व होगा। इसे लेकर मेला प्रशासन ने भी सभी तैयारियां पूरी कर ली है। मेला प्रशासन ने लगभग 25 लाख श्रद्धालुओं के संगम में आस्था की डुबकी लगाने का अनुमान लगाया है।

ऐसी है तैयारी

मकर संक्रांति, पौष पूर्णिमा और मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा का कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। सब कुछ कुशलता पूर्वक संपन्न हो गया। मंगलवार को माघ मेला के चौथे स्नान पर्व बसंत पंचमी पर पुलिस, पीएसी, अर्द्धसैनिक बल, बम निरोधक दस्ते के साथ एटीएस की टीम सक्रिय रहेगी। नियंत्रण कक्ष से सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से संदिग्धों पर नजर रखेगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि बसंत पंचमी पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहेगी। पुलिसकर्मियों को संदिग्धों पर नजर रखने और उनको पकड़ कर पूछताछ करने के निर्देश दिए गए हैं।

17 स्नान घाट बनाए

641.5 बीघे में बसाए गए माघ मेले को दो जोन और पांच सेक्टरों में बांटा गया है। इसके साथ ही मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए 8 हजार वर्ग फीट की लम्बाई में 17 स्नान घाट बनाये गए हैं। माघ मेले में कुम्भ की ही तर्ज पर स्नान घाटों पर डीप वाटर बैरिकेडिंग, जाल और रेत भरकर बोरियां लगाई गई हैं। स्नान करने के बाद घाट पर निकलने वाले श्रद्धालुओं के लिए कांसा घास भी बिछायी गई है। महिलाओं के लिए सैकड़ों की तादात में घाटों पर चेंजिंग रुम भी बनाये गए हैं।

ऐसी रही मेला की सुरक्षा

मेला प्रशासन के मुताबिक, सुरक्षा के दृष्टिगत मेला क्षेत्र में लगभग पांच हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। इसके अलावा मेला क्षेत्र में लगभग 120 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसकी मॉनिटरिंग कंट्रोल रुम के जरिए की जा रही है। ड्रोन कैमरे से भी मेला क्षेत्र की हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। साथ ही मेले में बनाये गए 16 एंट्री प्वांट्स पर गाड़ियों का मेले में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है।

Related posts