बेहद खास है नवरात्रि का अंतिम दिन, जानिए महानवमी का महत्व और पूजा का शुभ मुहूर्त

maha navami 2019 ,maha navami mahatava, maha navami shubh muhurat

चैतन्य भारत न्यूज

नवरात्रि के नौवें दिन यानी नवमी को मां सिद्धिदात्री की पूजा का विधान है। देवी के इस स्वरूप की उपासना से सभी प्रकार की सिद्धियां प्राप्त होती हैं। नवदुर्गाओं में मां सिद्धिदात्री अंतिम है। इस बार नवमी 7 अक्टूबर को पड़ रही है। आइए जानते हैं महानवमी का महत्व और पूजा-विधि।



maha navami 2019 ,maha navami mahatava, maha navami shubh muhurat

महानवमी का महत्व

महानवमी नवरात्रि का अंतिम दिन होता है। इस दिन लोग नौ कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोग लगाते हैं। मान्यता है कि इस दिन देवी दुर्गा ने महिषासुर नामक राक्षक का वध किया था। कहा जाता है कि मां भगवती ने 9वें दिन देवताओं और भक्तों के सभी वांछित मनोरथों को सिद्ध किया था। इनकी पूजा से भक्तों के सभी कार्य सिद्ध होते हैं और मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन मां की विशेष पूजा करके उन्हें दोबारा से पधारने का आवाहन कर उनकी विदाई की जाती है।

maha navami 2019 ,maha navami mahatava, maha navami shubh muhurat

महानवमी शुभ मुहूर्त

7 अक्टूबर को सुबह 10 बजकर 54 मिनट पर नवमी के शुरू होने की तिथि है और दोपहर 12.38 बजे पर नवमी तिथि समाप्त हो जाएगी।

महानवमी पूजा मंत्र

सिद्धगन्धर्वयक्षाघैरसुरैरमरैरपि।

सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी॥

या देवी सर्वभू‍तेषु मां सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

ये भी पढ़े…

शारदीय नवरात्रि : भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं देवी मां के शक्ति पीठ, जानिए इनकी महिमा

नवरात्रि में इन जगहों पर होता है भव्य मेले का आयोजन, परिवार संग जरूर जाएं घूमने

नवरात्रि में करें मां दुर्गा के इन खास मंत्रों का जाप, जरुर प्रसन्न होंगी देवी और करेंगी हर मुराद पूरी

Related posts